एक्शन में आईं ममता बनर्जी, ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने की जांच को लेकर 5 सदस्यीय टीम गठित –

एक्शन में आईं ममता बनर्जी, ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने की जांच को लेकर 5 सदस्यीय टीम गठित

बंगाल पुर्नजागरण काल की प्रमुख हस्ती और जाने-माने सुधारवादी ईश्वरचंद्र विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़े जाने के मामले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बड़ा कदम उठाया है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ईश्वरचंद्र विद्यासागर की 200 पुरानी मूर्ति तोड़े जाने के मामले की जांच के लिए पांच सदस्यीय समिति का गठन किया है । ममता बनर्जी ने कहा कि नए गृह सचिव अलपान बंदोपाध्याय और पांच सदस्यीय कमेटी इस मामले की जांच करेगी।

 इस जांच समिति में नए गृह सचिव अलपन बंद्योपाध्याय शामिल हैं। बता दें कि लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के प्रचार से के दौरान अमित शाह की रैली में भड़की हिंसा में ईश्वर चंद्र की मूर्ति तोड़ दी गई थी। टीएमसी ने इसके लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया था। 

बमुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समाज सुधारक पंडित ईश्वर चंद्र विद्यासागर की नयी आवक्ष प्रतिमा को उसकी पुरानी जगह पर ही लगवाने के प्रस्ताव को यह कहते हुये ठुकरा दिया था कि बंगाल के पास इसके लिए धन है।

उन्होंने कहा था कि ये भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ‘‘हुल्लड़बाज’’ थे जिन्होंने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान प्रतिमा तोड़ कर राज्य की विरासत नष्ट कर दी थी।

उन्होंने कहा, ‘‘बंगाल को भाजपा से दान नहीं चाहिये। बंगाल नवजागरण का हिस्सा रहे विद्यासागर की नई आवक्ष प्रतिमा बनवाने के लिए हमारे पास धन है। क्या आपको यह कहते हुये शर्म नहीं आती कि बंगाल एक कंगाल राज्य है।’’ 

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]