ब्राह्मण कथित रूप से समानता, स्वतंत्रता, बंधुता और लोकतंत्र के लिए खतरा है इसे उखड फेंकना चाहिए : कन्नड़ एक्टर चेतन कुमार – भारत

ब्राह्मण कथित रूप से समानता, स्वतंत्रता, बंधुता और लोकतंत्र के लिए खतरा है इसे उखड फेंकना चाहिए : कन्नड़ एक्टर चेतन कुमार

हाल में ब्राह्मण कार्ड को लेकर राजनीती हो रही है वंही दूसरी तरफ ब्राह्मणवाद के खिलाफ आवाज तेजी से हो रही है। सरकारी नौकरी, उच्च शैक्षणिक संस्थानों के उच्च पदों पर ब्राह्मण कथित रूप से इस लिए काबिज़ है क्यूंकि जातिवाद का वर्चस्व है नाकि योग्यता का।

कन्नड़ अभिनेता और सामाजिक कार्यकर्ता चेतन कुमार के ट्वीट के बाद यह चर्चा और तेज हो गई उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, “ब्राह्मणवाद स्वतंत्रता, समानता, बंधुत्व की भावना के लिए हानिकारक है,”

अभिनेता ने अपनी एक तस्वीर ट्वीट की थी और इसे कैप्शन दिया था, “ब्राह्मणवाद स्वतंत्रता, समानता, बंधुत्व की भावना का निषेध है… और उन्होंने कहा क्योंकि अछूत सरासर बकवास है। यह एक बड़ा धोखा है’- #पेरियार” एक्टर के इस ट्वीट के बाद उसके खिलाफ कार्यवाही की मांग तेज हो गई जबकि बहुत से लोग उसके समर्थक में भी ट्वीट किया।

जबकि ब्राह्मण विकास बोर्ड प्रभावित के अध्यक्ष सच्चिदानंद मूर्ति ने बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त कमल पंत को शिकायत दर्ज कर अभिनेता के खिलाफ कार्रवाई शुरू करने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि अभिनेता ने समुदाय की भावनाओं को आहत किया है और उन्हें माफी मांगनी चाहिए। हालांकि, यह पता नहीं चल पाया है कि पुलिस ने इस मामले में अभिनेता के खिलाफ अभी तक कोई प्राथमिकी दर्ज की है या नहीं।

आपको बता दे कर्नाटक राज्य ब्राह्मण विकास बोर्ड को शादी से जुड़ी दो योजनाओं को पायलट बेसिस पर शुरू करने की मंजूरी दी गई थी। इन योजनाओं में से एक योजना के तहत पुजारियों से शादी करने वाली 25 ब्राह्मण महिलाओं को 3 लाख रुपये के फाइनेंशियल बॉन्ड दिए जाने का प्रावधान है। वहीं दूसरी योजना के तहत ब्राह्मण समुदाय से आने वाली आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं को 25 हजार रुपये देने का प्रावधान है।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक अरुंधति योजना के तहत गरीब तबके की 550 ब्राह्मण महिलाओं को शादी के लिए 25,000 रुपये दिए जाएंगे. वहीं मैत्रेयी स्कीम के तहत पुजारियों से शादी करने वाली 25 महिलाओं को 3 लाख रुपये के फाइनेंशियल बॉन्ड दिए जाएंगे।

अब इस योजना को ही उदाहरण के तौर पर देख लो समाज में बहुत से गरीब परिवार जिनके शादी के लिए ऐसे कोई ऐसी योजना नहीं है लेकिन जो ब्राह्मण पहले से सामाजिक आर्थिक सत्र पर मजबूत है उसके लिए सरकार का यह फण्ड क्या दर्शाता है ?

चेतन कुमार को कथित तौर पर पुलिस से नोटिस नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि उन्हें इस बारे में मीडिया रिपोर्ट्स से पता चला। “बयान तथ्यात्मक हैं और मेरे पास केवल बोले गए तथ्य हैं। हम नहीं चाहते कि समाज में अन्याय हो, चाहे वह सामाजिक-आर्थिक हो या लिंग। उद्देश्य दुनिया को एक बेहतर जगह बनाने के लिए शिक्षा का उपयोग करना है। हमारा लक्ष्य एक बनाना है समाज जो गैर-भेदभावपूर्ण है”

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Latest Post

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]