US विदेश विभाग की रिपोर्ट में भारत में धार्मिक स्वतंत्रता पर व्यक्त की चिंता; CAA, NRC, लिंचिंग का जिक्र – विश्व

US विदेश विभाग की रिपोर्ट में भारत में धार्मिक स्वतंत्रता पर व्यक्त की चिंता; CAA, NRC, लिंचिंग का जिक्र

अमेरिका के विदेश विभाग की ओर से साल 2019 को लेकर एक रिपोर्ट जारी की गई है, जिसमें दुनिया के देशों में धार्मिक स्वतंत्रता आकलन किया गया है। इस रिपोर्ट में भारत की मौजूदा स्थिति पर चिंता जाहिर की गई।

अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता रिपोर्ट-2019 में कहा गया है कि भारत का इतिहास बहुत ही सहिष्णु और हर धर्म के लिए समान व्यवहार वाला रहा है, लेकिन अभी जो देश में चल रहा है वह काफी चिंताजनक है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि दुनिया में इस वक्त दस में से 8 लोग धार्मिक स्वतंत्रता को लेकर मुश्किल का सामना करते हैं।

यह भी जाने- अमेरिकी के जिन सांसदों धार्मिक स्वतंत्रता को बताया था खतरा, भारत सरकार ने उन्हें वीजा जारी करने से किया इनकार

अमेरिकी कांग्रेस की अगुवाई में आई इस रिपोर्ट में नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ हुए प्रदर्शन, साथ ही कई घटनाओं का जिक्र किया गया है। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर से अचानक अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर भी बात कही गई है।

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि CAA कानून को लेकर भारत में काफी बहस हुई और इसे धार्मिक बंटवारे के आधार पर देखा गया। इस बीच भारतीय जनता पार्टी समेत कई हिन्दू संगठनों ने देश में अल्पसंख्यकों के खिलाफ भड़काऊ भाषणों का प्रयोग किया। इतना ही नहीं इस रिपोर्ट में देश में हुई कई लिंचिंग की घटनाओं को भी शामिल किया गया है।

गौरतलब है कि अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा हर साल इस तरह की रिपोर्ट जारी की जाती है. इससे पहले भी अमेरिका के एक कमीशन ने इस प्रकार की रिपोर्ट दी थी, जिसको भारत ने पूरी तरह से नकार दिया था. साथ ही किसी भी मसले को भारत का आंतरिक मामला कहा था।

हालांकि, इस बीच कई तबकों में अमेरिका की इस रिपोर्ट की आलोचना भी हो रही है। क्योंकि ये रिपोर्ट तब सामने आई है, जब खुद अमेरिका में ही इस वक्त एक बार फिर श्वेत बनाम अश्वेत की बहस तेज हो गई है। जॉर्ज फ्लॉयड की श्वेत पुलिसकर्मी के द्वारा पुलिस कस्टडी में हुई मौत से अमेरिका में गुस्सा भड़क गया है।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]