MP में सरकारी तंत्र फेल : आम के पेंड के नीचे चल रहा इलाज, झोला छाप डॉक्टर बने भगवन – भोपाल

MP में सरकारी तंत्र फेल : आम के पेंड के नीचे चल रहा इलाज, झोला छाप डॉक्टर बने भगवन

कोरोना महामारी में जहाँ सरकारी तंत्र पूरी तरह फेल नजर आ रह यही वंही अब ग्रामीण क्षेत्र में झोला छाप डॉक्टर ही भगवन बनकर सामने आये है। मध्य प्रदेश के आगर मालवा जिले से कोरोना की भयावह तस्वीर सामने आयी है।

मामला आगर मालवा जिले का है। सुसनेर से पिडावा राजस्थान की और जाने वाले मार्ग पर ग्राम धानियाखेड़ी से करीब आधा किलोमीटर दूर यह खेत-अस्पताल देखा जा सकता है। यहां पर मुख्य सड़क से महज 200 मीटर दूरी पर स्थित संतरे के एक बगीचे में दरी और कार्टन पर ही मरीजों को लिटाकर निजी डाॅक्टर पेड़ पर लटकी हुई बोतलों से उनका उपचार कर रहे हैं। खेत को अस्पताल बनाने वाले झोलाछाप डॉक्टर का नाम देवीलाल है। अफसरों की जानकारी में होने के बाद भी कार्रवाई नहीं की गई है।

10 गांव के मरीज यहां इलाज के लिए पहुंचे

इसी जगह पर आसपास के करीब 10 गांव के मरीज बड़ी संख्या में अपना इलाज करवाने के लिए पहुंच रहे हैं। यहां इलाज करा रहे मरीजों को न तो कोरोना का खौफ है और न ही उनके लिए दो गज की दूरी और मास्क जरूरी है।

बीएमओ बोले- आज गांव जा रहा हूं

इस मामले में सुसनेर बीएमओ मनीष कुरील का कहना है कि ऐसे चिकित्सकों पर कार्रवाई भी की जा रही है। साथ ही, उनको समझाइश भी दी जा रही है कि मरीजों को सही सलाह दे। कुरील ने कहा कि मैं आज गांव में जा रहा हूं।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]