बीजेपी ने 17 गुना बढ़ाए ट्रेड लाइसेंस आंदोलन के मूड में व्यापारी – भारत

बीजेपी ने 17 गुना बढ़ाए ट्रेड लाइसेंस आंदोलन के मूड में व्यापारी

ट्रेड लाइसेंस शुल्क में बढ़ोत्तरी का व्यापारियों ने विरोध किया है। व्यापारियों का कहना है कि एमसीडी ने कोरोना काल में नया शुल्क थोप कर व्यापार को राहत देने की बजाए व्यापार को चौपट करने का खाका तैयार किया है।

लॉकडाउन के दौरान वैसे ही व्यापारी परेशानी में थे अब आर्थिक रूप से कमर तोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। इस शुल्क को वापस लेने की मांग के साथ व्यापारी आंदोलन के मूड में भी है।

आम आदमी पार्टी ट्रेड विंग के कन्वीनर बृजेश गोयल ने कहा कि लाखों दुकानदार पिछले 2 महीने से लॉकडाउन खुलने के इंतजार में थे। लेकिन लॉकडाउन खुलने के बाद तुरंत उत्तरी दिल्ली एमसीडी ने दुकान खुलते ही इस प्रस्ताव को लागू कर दिया है, कोरोना ने व्यापार पहले से ही चौपट था। अब ट्रेड लाइसेंस में 17 गुना बढ़ोतरी ने कमर तोड़ने का प्रयास है।

कन्फेडरेशन ऑफ सदर बाजार ट्रेडर्स एसोसिएशन के महासचिव राजेंद्र शर्मा ने व्यापार लाइसेंस शुल्क वापस लेने की मांग की। कहा कि इस शुल्क से हजारों कारोबारियों का काम धंधा चौपट हो जाएगा। व्यापारियों की कमर पहले से ही टूटी हुई है।

बिजली का फिक्स चार्ज, बैंक की किस्ते व अन्य प्रकार के टैक्स के बोझ तले पहले से दबा हुआ हुआ है। व्यापारी विष्णु भार्गव व गुरमीत अरोड़ा ने कहा कि कारोबार को पूरी तरह से चौपट करने वाला निर्णय बताया।

कितनी हुई बढ़ोतरी।

नए लाइसेंस फीस स्ट्रक्चर के हिसाब से जिनकी दुकानें 10 से 20 वर्ग मीटर की हैं, उन्हें अब 500 रुपये के बजाए 8,625 सालाना लाइसेंस फीस देनी पड़ेगी। शोरूम मालिकों को अधिकतम 57,000 तक लाइसेंस फीस देनी पड़ेगी। ट्रेड लाइसेंस फीस बढ़ोतरी को वापस नहीं लिया तो दिल्ली के व्यापारी एमसीडी दफ्तर का घेराव करेंगे।

इस शुल्क का किस बाजार पर पड़ेगा असर

कश्मीरी गेट, चांदनी चौक, सदर बाजार, चावड़ी बाजार, नया बाजार, खारी बावली, भागीरथ प्लेस, लाजपत राय मार्केट, आजाद मार्केट, कमला नगर, रोहिणी, पीतमपुरा, मॉडल टाउन, मुखर्जी नगर, वजीरपुर, अवंतिका। दिल्ली के करीब 60 प्रतिशत व्यापारी प्रभावित होंगे।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]