संजय राउत ने की विशेष संसद सत्र बुलाने की मांग की, कहा- स्थिति युद्ध जैसी, न बेड- न ऑक्सीजन- न टीकाकरण – भारत

संजय राउत ने की विशेष संसद सत्र बुलाने की मांग की, कहा- स्थिति युद्ध जैसी, न बेड- न ऑक्सीजन- न टीकाकरण

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों की संख्या को देखते हुए शिवसेना सांसद संजय राउत ने सोमवार को संसद का विशेष सत्र बुलाने की मांग की है। इस सत्र में कोविड-19 की स्थिति पर कम-से-कम दो दिनों की चर्चा की जाए।

संजय राउत ने सोमवार को कहा, “मैं संसद के विशेष सत्र की मांग इसलिए कर रहा हूं क्योंकि कल देश के प्रमुख नेताओं से मेरी चर्चा हो रही थी और सबकी मांग थी कि उनके राज्य में भी गंभीर स्थिति है। ऐसे मामले में अगर सरकार विशेष सत्र बुलाती है तो हर राज्य की स्थिति के बारे में वहां खुलकर चर्चा होगी।”

इससे पहले राज्यसभा सदस्य राउत ने रविवार को ट्वीट किया था कि यह एक अभूतपूर्व और लगभग युद्ध जैसी स्थिति है। हर जगह भ्रम और तनाव है। न बेड, न ऑक्सीजन और न ही टीकाकरण। कुल मिला कर कुछ नहीं है। ऐसी स्थिति की चर्चा के लिए कम से कम 2 दिनों के लिए संसद का सत्र बुलाया जाना चाहिए।

वहीं, पत्रकारों से बातचीत में राउत ने बिना कोई नाम लिए दावा किया कि कुछ राज्यों ने वास्तविक रूप से कोविड-19 मामलों की संख्या छिपाई है। उन्होंने आगे कहा कि संख्या छिपाने का कार्य अब कुछ राज्यों में बंद हो गया है।

जो अब कुछ राज्यों में अंतिम संस्कार के रूप में देखा जा सकता है। सांसद संजय राउत ने दावा किया कि यदि कोरोना के मामले बढ़ते रहे, आंकड़े छिपाए जाते रहे और सरकार वर्तमान स्थिति पर नियंत्रण नहीं कर पाई तो ‘अराजकता’ फैल जाएगी।

संजय राउत के बयान पर महाराष्ट्र के भाजपा के मुख्य प्रवक्ता केशव उपाध्याय ने ट्वीट करते हुए कहा, “संजय राउत जी आपने महाराष्ट्र की स्थिति की सटीक व्याख्या की है। इसलिए स्थिति पर चर्चा के लिए पहले विधानसभा का विशेष सत्र बुलाइए।”

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]