बीजेपी विद्यायक की मूर्खता की हद पार कहा : गोमूत्र का सेवन और हवन से कोरोना का ख़त्म हो जायेगा। – भारत

बीजेपी विद्यायक की मूर्खता की हद पार कहा : गोमूत्र का सेवन और हवन से कोरोना का ख़त्म हो जायेगा।

गुजरात में डाक्टरों ने तथाकथित ‘गाय के गोबर से उपचार’ के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा है कि शरीर पर गाय के गोबर का लेप लगाने से कोरोना वायरस के खिलाफ सुरक्षा नहीं मिलेगी बल्कि इससे म्यूकोरमाइकोसिस समेत दूसरी तरह के संक्रमण हो सकते हैं ।

वंही गाजियाबाद के लोनी क्षेत्र के बीजेपी विधायक ने लोगों से अपील की है कि कोविड-19 से छुटकारा पाने के लिए घर से निकलने से पहले देसी काली गाय का गोमूत्र का सेवन करें, गाय के घी में भुनी हुई हल्दी का प्रयोग करें और गाय के घी को नाक में लगाएं तो इस जानलेवा संक्रमण से बचा जा सकता है।

गौरतब है कि 2 दिन पहले बलिया के विधायक ने कहा सुबह-सुबह ही खाली पेट गाय के मूत्र का सेवन से कोरोना ख़त्म हो जाता है। विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने कहा कि हिंदू धर्म के शास्त्रों में वर्णन है कि जब भी कोई महामारी आती है तो इससे भगवान भोलेनाथ के महामृत्युंजय मंत्र से छुटकारा मिलता है।

जबकि हकीकत यह है कि कोरोना ने बड़े से बड़े धार्मिक गुरुओं को नहीं छोड़ा ऐसे में जनता को वैज्ञानिक और अप्रमाणित अफवाह फैलाना उन लोगो के लिए खतनाक बन सकता है।

भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) की महिला शाखा की अध्यक्ष और शहर की एक वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. मोना देसाई ने इस उपचार को ‘पाखंड और अप्रमाणित’ बताया। उन्होंने कहा, ‘उपयोगी साबित होने के बजाए गाय के गोबर से आपको म्यूकोरमाइकोसिस समेत दूसरे संक्रमण हो सकते हैं।

अब इतना खतरनाक होते हुए ऐसा अफवाह फ़ैलाने वालों के साथ प्रशासन शक्ति से क्यों नहीं निपटता है। गौरतलब है नाड किशोर गुर्जर अलग-अलग क्षेत्र में 12 जगह महामृत्युंजय मंत्र के साथ हवन का आयोजन किया है।

हवन में भगवान भोलेनाथ पर विश्वास करते हुए भारतीय जनता पार्टी, विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के अलावा स्थानीय लोग भी शामिल हुए हैं। सभी ने भगवान भोलेनाथ के महामृत्युंजय मंत्र उच्चारण करते हुए भगवान से प्रार्थना की है कि इस महामारी को जल्द से जल्द खत्म करें।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]