एंबुलेंस खुलसा करने पर पप्पू यादव 'गिरफ्तार', लॉकडाउन के नियमों को तोड़ने का है आरोप : देश में सच बोलना मना है ! – बिहार

एंबुलेंस खुलसा करने पर पप्पू यादव ‘गिरफ्तार’, लॉकडाउन के नियमों को तोड़ने का है आरोप : देश में सच बोलना मना है !

बिहार में लोग मर रहे है स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल है लोगो साईकिल से लाशो को ले जा रहे तो कंही ठेलिया से अस्पताल पहुंचाने को मजबूर है। ऐसे में पप्पू यादव ने बिहार के सारण से बीजेपी लोकसभा सांसद राजीव प्रताप रूडी की एक जमीन पर एंबुलेंस के एक बेड़े का खुलासा किया था। जिसके बाद बाद भाजपा सांसद और जन अधिकार पार्टी के प्रमुख पप्पू यादव के बीच बहस छिड़ गई है।

पूर्व सांसद पप्पू यादव ने यह जानने की मांग की है कि एंबुलेंस को इस तरह क्यों रखा गया था, जब जिला और राज्य कोविड मामलों में भारी वृद्धि से जूझ रहे हैं, और चिकित्सा संसाधन जैसे एम्बुलेंस, ड्रग्स और ऑक्सीजन की आपूर्ति कम है? तो इस तरह सांसद निधि के पैसों से खरीदी एम्बुलेंस छिपा कर क्यों रखी है।

बीजेपी नेता कहने लगे कि ड्राइवर के चलते एंबुलेंस खड़ी थीं। कहीं इस एंबुलेंस की आवश्यकता हो तो आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। डिबेट में बीजेपी नेता कहने लगे कि राज्य में पप्पू यादव सिर्फ अव्यवस्था फैलाने का काम कर रहे हैं। जबकि साम तक पप्पू यादव ने ड्राइवरों की परेड करवा दिया। जिसके बाद भाजपा सांसद की खूब किरकिरी हुयी।

जिसके बाद पप्पू यादव पर FIR दर्ज करवाई गई। सुरक्षा गार्डों ने बताया कि उन्होंने पप्पू यादव रोकने की पूरी कोशिश की। लेकिन जाप सुप्रीमो धक्का-मुक्की कर हथियार के भय दिखाकर परिसर में घुस आये इस दौरान उन्होंने रंगदारी की मांग की और नहीं देने पर जान से मारने की धमकी भी दी। लेकिन यह बात किसी को हजम नहीं हो रही है यह केवल भाजपा बदले की भावना से की गई।

वंही कहा गया एफआईआर में उन्होंने कहा कि जाप सुप्रीमो पप्पू यादव लगभग 50 लोगों के साथ संपूर्ण लॉकडाउन काल में राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस का उल्लंघन करते हुए बिना किसी अनुमति के जबरन विश्वप्रभा समुदायिक केंद्र में घुसे और परिसर में सुरक्षित रखे गए पंचायत एंबुलेंस को समर्थकों के साथ मिलकर क्षतिग्रस्त कर दिया।

जिसके बाद आज पप्पू यादव के समर्थकों की ओर से ये कहा गया कि जाप नेता को पटना स्थित उनके निजी आवास पर बुद्धा कॉलोनी थाना के प्रभारी ने हाउस रेस्ट कर लिया है। हालांकि, इस संबंध में पटना के आईजी ने न्यूज को फोन पर बताया कि पप्पू यादव को पहले भी आग्रह और आगाह किया गया था।

लेकिन वो हर बार नियमों को नहीं तोड़ने का भरोसा देते हैं, फिर गाइडलाइन तोड़ कर निकल जाते हैं ऐसे में पप्पू यादव के खिलाफ कानूनी कार्रवाई पर विचार किया जा रहा है।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]