कोविड वैक्सीन को लेकर CM अशोक गहलोत ने केंद्र से कहा- राज्यों में वैक्सीन ही नहीं, कैसे मनाएं 'टीका उत्सव' ? – भारत

कोविड वैक्सीन को लेकर CM अशोक गहलोत ने केंद्र से कहा- राज्यों में वैक्सीन ही नहीं, कैसे मनाएं ‘टीका उत्सव’ ?

भारत में कोरोना के मामलों लगातार बढ़ते जा रहे है। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कई राज्यों ने लॉकडाउन तो किसी ने रात्रि में बाहर निकलने पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। लेकिन अब कोरोना वैक्सीन को लेकर केंद्र और राज्य सरकार आमने-सामने है।

राज्य सरकार ने एक बार फिर से वैक्सीन की कमी का मुद्दा उठाया है और केंद्र सरकार से सार्वजनिक तौर पर स्थिति स्पष्ट करने को कहा है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बयान जारी कर कहा है कि प्रधानमंत्री ने 11 अप्रैल को ज्योतिबा फुले जयंती से 14 अप्रेल को आंबेडकर जयंती तक ‘टीका उत्सव’ मनाने का आह्वान किया है, लेकिन राज्यों में वैक्सीन ही उपलब्ध नहीं है। ऐसे में टीका उत्सव कैसे मनाया जा सकता है?

उन्होंने केंद्रीय मंत्री अमित शाह और रविशंकर प्रसाद द्वारा दिए गए उन बयानों को भी तथ्यात्मक रूप से गलत बताया है जिसमें उन्होंने राज्यों में वैक्सीन की कमी नहीं होने की बात कही थी.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने बयान में कहा है कि 6 अप्रैल तक केंद्र सरकार से राजस्थान को 1 करोड़, 7 लाख, 40 हजार 860 कोविड वैक्सीन डोजेज मिली हैं। इनमें से 2 लाख 15 हजार 180 वैक्सीन सेना को उपलब्ध करवाई गई है

प्रदेश में 8 अप्रैल तक 91 लाख 55 हजार 370 डोजेज लगा दी गईं हैं और करीब 4 लाख 34 हजार 888 डोजेज खराब हुईं हैं. जो डोजेज खराब हुई हैं वह केन्द्र सरकार द्वारा अनुमानित सीमा 10% के आधे से भी कम हैं।

प्रदेश में 8 अप्रैल को 4.65 लाख, 7 अप्रैल को 5.81 लाख, 6 अप्रैल को 4.8 लाख और 5 अप्रेल को 5.4 लाख वैक्सीन डोजेज लगाई गईं. 9 अप्रैल की सुबह प्रदेश में करीब 9.70 लाख वैक्सीन डोजेज शेष थीं. हर रोज करीब 5.18 लाख वैक्सीन औसतन राजस्थान में लगाई जा रही हैं. नौ अप्रैल का वैक्सीनेशन कार्य पूरा होने के बाद प्रदेश में करीब 5 लाख वैक्सीन डोजेज ही बची हैं, जो आगे वैक्सीनेशन के लिए पर्याप्त नहीं हैं

गहलोत ने कहा कि कई राज्यों से आज वैक्सीनेशन केन्द्रों पर वैक्सीन उपलब्ध ना होने की तस्वीरें सामने आई हैं.ऐसे में केन्द्र सरकार को स्पष्ट तौर पर वैक्सीन की कमी होने की बात सार्वजनिक तौर पर करनी चाहिए।

CM ने कहा कि वैक्सीनेशन के कार्य में कोई राजनीति नहीं की जा रही है लेकिन तथ्यों से स्पष्ट है कि अनेक राज्यों में वैक्सीन की कमी है. केन्द्र सरकार को सार्वजनिक तौर पर वैक्सीन डोजेज की स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]