मुज़्ज़फरनगर : एसजेएस इंटर कॉलेज में बेसमेंट के अंदर चल रही थी अवैध शराब फ़ैक्ट्री – मुज़फ्फर नगर

मुज़्ज़फरनगर : एसजेएस इंटर कॉलेज में बेसमेंट के अंदर चल रही थी अवैध शराब फ़ैक्ट्री

पिछले 1 साल से अधिक समय से सभी इंटर कॉलेज और कालेज लगभग बंद है। जिसके कारण पंचायती चुनाव में बंद कॉलेज शराब की फैक्ट्री या अड्डा बनते नजर आ रहे हैं।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में पंचायती चुनाव को देखते हुए ग्रामीण इलाकों में मुर्गा और दारू की मांग बढ़ गई है वहीं जहरीली शराब से कई लोगों की मौत भी हुई है। कई घटनाओं के बाद अब प्रशासन और शासन दोनों जहरीली शराब पर रोक लगाने के लिए तत्पर है।

मुज़्ज़फरनगर के एसएसपी अजय कुमार के नेतृत्व में शराब माफियाओं के ख़िलाफ़ बड़ी कार्यवाही की गई है। मुखबिर के सूचना के आधार पर एसजेएस इंटर कॉलेज के बेसमेंट के अंदर चल रही थी अवैध शराब फ़ैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ है।

कार्यवाही करते हुए पुलिस ने अवैध शराब बनाने और वितरण से जुड़े कई दस्तावेज और सामग्री जब्त किया है जो इस प्रकार है –

  • क़रीब 375 लीटर एक्स्ट्रा न्यूट्रल ऐल्कोहल (ENA)
  • 70 बोरी यूरिया (मिलावट करने के लिए)
  • रंग उत्पन्न करने वाले रसायन क़रीब 10 लीटर
  • ढक्कन क़रीब 2000
  • ख़ाली क्वार्टर क़रीब 2000
  • नक़ली रैपर व नक़ली QR CODE / STICKERS
  • अवैध शराब का परिवहन करने के लिए 1 सफ़ेद रंग की स्कॉर्पियो कार एवं 3 मोटर साइकिलें
  • 44 अदद फ़र्ज़ी मुहरें
  • अवैध शराब बनाने हेतु प्रयुक्त होने वाले तमाम उपकरण।

गौरतलब है हाल में ही उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़, प्रयागराज, चित्रकूट, बदायूं आदि कई शहरों में जहरीली शराब से दर्जनों मौत हुई है। ग्राम पंचायत चुनाव में जहाँ शराब की मांग बढ़ी है वंही अवैध शराब माफियो को बेहतर औसर मिला है।

पुलिस ने बताया अवैध शराब फैक्ट्री का खुलासा करते हुए सरगना रंजीत यादव समेत 3 बदमाश गिरफ्तार किया है जबकि प्रवीण यादव निवासी एटा समेत 2 बदमाश फ़रार है।

पुलिस ने कहा इन सभी के खिलाफ विधिक कार्यवाही की जा रही है। गिरफ़्तार शातिर अभियुक्तों से पूछताछ में जो तथ्य उभर कर आए हैं, उन पर फ़ॉलो अप ऐक्शन करने हेतु एक विशेष टीम लगा दी गई है।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]