मुरादाबाद : कॉसमॉस अस्पताल बड़ी लाहपरवाही के कारण नासिर पहुँचा शमशान, रामप्रताप पहुँचा कब्रिस्तान – मुरादाबाद

मुरादाबाद : कॉसमॉस अस्पताल बड़ी लाहपरवाही के कारण नासिर पहुँचा शमशान, रामप्रताप पहुँचा कब्रिस्तान

उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद के कांठ रोड स्थित कॉसमॉस अस्पताल का एक अजब मामला प्रकाश में आया है !

जहाँ से दो अलग अलग समुदाय के शव बदलने वाली बात सामने आई है जिसमे हिन्दू समाज का शव मुस्लिम समाज के लोगो को दे दिया और मुस्लिम समाज का शव हिन्दू समाज के लोगो को मामले का खुलासा जब हुआ जब हिन्दू समाज के लोगो ने शव को मुखाग्नि देने से पूर्व ही शव का चेहरा देख लिया जिसको देखते ही मृतक के परिजन भौचक्के रह गए और अस्पताल प्रशासन पर शव बदलकर देने का गम्भीर आरोप लगाना शुरू कर दिया दोनो ही शव कोरोना मरीज़ों के बताए जा रहे है यह पूरा मामला कोरोना मृतकों के शव बदलने का है जिसमे परिजनों को अस्पताल प्रशासन ने सौपें अलग शव जिसकी पहचान अंतिम संस्कार के वक्त हिन्दू समाज के शव के परिजनों को हुई जिससे आक्रोशित परिजनों ने अस्पताल पहुंचकर जताया भारी आक्रोश परिजनों ने मांगा अस्पताल प्रशासन से जवाब अस्पताल प्रशासन परिजनों को नही दे रहा कोई जबाब दोनो ही मृतक थाना सिविल लाइन क्षेत्र में आने वाले चक्कर की मिल्क के रहने वाले थे दोनो ही मृतक अलग-अलग समुदाय के है मृतक के परिजनों ने कॉसमॉस अस्पताल पर शव बदल कर देने का लगाया आरोप !

दरअसल आपको बता दें कि मुरादाबाद के कांठ रोड स्थित कॉसमॉस अस्पताल में आज कोरोना के दो मरीज़ों की मृत्यु हुई थी जो कि एक मुस्लिम समाज का शव था तो दूसरा हिन्दू समाज का दोनो ही मृतक कोरोना के मरीज थे सुरक्षा के दृष्टिगत कोरोना मरीज़ के शव को अस्पताल प्रशासन पूरी तरह से सील कर अंतिम संस्कार कर रहे है उसी के कारण आज दो अलग अलग समुदाय के शवों में फेरबदल हो गया हिन्दू का शव मुस्लिम समाज के लोगो को दे दिया मुस्लिम का शव हिन्दू समाज के लोगो को जिसमे मुस्लिम समाज के लोगो ने बिना चेहरा देखे शव को दफन कर दिया था तो वही हिन्दू समाज के लोग भी शव का अंतिम संस्कार करने की तैयारी में थे कि शक होने पर हिन्दू समाज के लोगो ने शव का चेहरा देख लिया!

तो तभी इस पूरे मामले का खुलासा हो गया और परिजनों में हंगामा मच गया और अस्पताल प्रशासन से संपर्क किया अस्पताल प्रशासन ने मुस्लिम समाज के लोगो से संपर्क कर पूरे मामले की जनकारी दी तब कही जाकर मुस्लिम समुदाय के लोगो द्वारा दफन किया गया शव कब्र से निकाला गया और दोनो ही परिजनों को उनके उनके लोगो के शव सौंपे गए तब जाकर दोनो ही शवो का अंतिम संस्कार किया गया तब कही मामला शांत हुआ।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]