बीजेपी के दो नायब मंत्रियों का मूर्खतापूर्ण लॉजिक जानकार आप उनकी कथित बुद्धिहीनता का अंदाजा लगा सकते है ? – News

बीजेपी के दो नायब मंत्रियों का मूर्खतापूर्ण लॉजिक जानकार आप उनकी कथित बुद्धिहीनता का अंदाजा लगा सकते है ?

पिक्चर सोशल मीडिया पर वायरल फोटो

पेट्रोल-डीजल की तरह खाने के तेल के दाम भी आसमान छू रहे हैं। देश में मंहगाई दिन पर दिन बढ़ते जा रही है। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने महंगाई पर कहा कि सरसों का तेल थोड़ा महंगा हुआ है क्योंकि उसमें सरकार ने मिलावट को बंद किया है। ​ये भारत सरकार का बहुत महत्वपूर्ण फैसला है और इसका फायदा देशभर के तिलहन और सरसो में काम करने वाले किसानों को होने वाला है। जो भी दाम बढ़ेंगे उस पर सरकार की नजर है।

अब मंत्री जी को कौन समझया जो जमाखोरी का कानून बनाया है उसका नतीजा है। महामारी में नौकरी है नहीं लोगो की आय खत्म है सरसों कहाँ से खरीदेंगे ? और लाभ किसानों को होने की बात कहा रहे किसी के समझ के परे है ऐसा मूर्खतापूर्ण लॉजिक।

जबकि दूसरे कथित बुद्धिहीन भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा है कि जो महंगाई को राष्ट्रीय आपदा कह रहे हैं वह अन्न का त्याग कर दें और पेट्रोल का उपयोग बंद कर दें। अग्रवाल के इस बयान के बाद राज्य में सत्ताधारी दल और विपक्ष आमने-सामने है।

अब सवाल या है कि जो भी आपके पहुँच में न हो उसे आप त्याग दे इस तरह गरीब मज़दूर लोगो के पहुंच से अगर भोजन दूर हो जाए तो उसे क्या जीवन त्याग देना चाहिए। .

भाजपा के वरिष्ठ नेता के इस बयान को लेकर सत्ताधारी दल कांग्रेस के संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि भाजपा उन लोगों के दर्द को महसूस भी नहीं कर सकती जो महंगाई को झेल रहे हैं।

त्रिवेदी ने कहा, “इस तरह का बयान देना शर्मनाक है. बाद में वे कहेंगे कि जो लोग केंद्र सरकार का विरोध करते हैं उन्हें भारत छोड़ देना चाहिए.” कांग्रेस नेता ने बताया कि महंगाई के विरोध में कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता शनिवार को केंद्र के खिलाफ अपने घरों के सामने राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन करेंगे.

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]