कानपुर : इंश्योरेंस के प्रीमियम पर 10 फीसदी की छूट का झांसा देकर ठगी , 6 आरोपी गिरफ्तार – कानपुर

कानपुर : इंश्योरेंस के प्रीमियम पर 10 फीसदी की छूट का झांसा देकर ठगी , 6 आरोपी गिरफ्तार

कानपुर क्राइम ब्रांच ने एक साइबर ठगों के गिरोह का पर्दाफाश किया है। यह गिरोह इंश्योरेंस प्रीमियम में 10 फीसदी की छूट देने का झांसा देकर ठगी करता था।

पुलिस ने इस गैंग के 6 सदस्यों को अरेस्ट किया है। इनके पास से एटीएम कार्ड, ग्राहकों का डाटा, मोबाइल बरामद हुए हैं। पकड़े गए आरोपी दो करोड़ की ठगी कर चुके हैं।

क्राइम ब्रांच ने बर्रा पुलिस के साथ मिलकर गिरोह के मुखिया शिवम समेत 6 ठगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की पूछताछ में आरोपियों के 33 बैंक खाते मिले हैं। साइबर ठगों से पूछताछ जारी है। पुलिस इस गिरोह के अन्य सदस्यों की जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है।

बर्रा के रहने वाले अमित गुप्ता ने बर्रा थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। ठगों के इस गैंग ने अमित गुप्ता को 51 हजार की चपत लगाई थी। इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच कर रही थी।

कैसे करते थे ठगी
साइबर ठग मैक्स लाइफ इंश्योरेंस कंपनी के ग्राहकों का डाटा उनके एजेंटों से 20 से 30 हजार में खरीदते थे। ठगों के पास ग्राहकों का पूरा डाटा आ जाता था, जिसमें पॉलिसी का नंबर, ग्रहकों का नाम, पता, मोबाइल नंबर होते थे।

जब प्रीमियम जमा करने वक्त नजदीक आता था तो आरोपी ग्राहकों को फोन करते थे। जिस ग्राहक के प्रीमियम का भुगतान नहीं होता था, उस ग्राहक को प्रीमियम में 10 फीसदी की छूट देने का झांसा देते थे। आरोपी एनईएफटी, आरटीजीएस के जरिए ग्राहकों से रकम जमा करा लेते थे।

दूसरों से निकलवाते थे एटीएम से पैसे
एडीसीपी दीपक भूकर ने बताया कि आरोपी सीसीटीवी कैमरों से बचने के लिए कभी खुद एटीएम से पैसे नहीं निकालते थे। किसी भी शख्स को दो से तीन सौ रुपये देकर एटीएम से पैसे निकलवाते थे। इसके साथ ही पेट्रोल पंप पर कार्ड स्वाइप करा कर कैश लेते थे।

10 हजार रुपये स्वाइप कराने पर एक हजार रुपये पेट्रोल पंप कर्मचारी को देते थे। ग्राहकों को कॉल करने के लिए आरोपी फर्जी आईडी पर सिम लेते थे। टेलीकॉम कंपनी के एजेंट से प्रीपेड सिम खरीद लेते थे।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]