MP: इंदौर पुलिस ने ड्रग सप्लाई करने वाली आंटी को गिरफ्तार किया – इंदौर

MP: इंदौर पुलिस ने ड्रग सप्लाई करने वाली आंटी को गिरफ्तार किया

मध्यप्रदेश: इंदौर पुलिस लगातार शहर ड्रग पैडलरों के नेटवर्क को ध्वस्त करने में लगी है। 7 पैडलरों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने आंटी को गिरफ्तार किया है।

प्रीति जैन उर्फ आंटी ही इन पैडलरों को ड्रग्स सप्लाई करने के लिए देती थीं। पुलिस लगातार प्रीति जैन से पुलिस पूछताछ कर रही है

इंदौर में नशे का कारोबार लगातार बढ़ता जा रहा है जिसके चलते पुलिस इन ड्रग्स कारोबारियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। नशे के खिलाफ अभियान में इंदौर के विजय नगर थाना पुलिस को एक बड़ी सफलता हासिल हुई है।

पुलिस ने एक ऐसी महिला को पकड़ा है जो नशे के बड़े कारोबार से जुड़ी हुई है। पुलिस ने स्कीम-78 निवासी प्रीति जैन उर्फ काजल उर्फ सपना उर्फ आंटी को ड्रग्स सप्लाई के आरोप में गिरफ्तार किया है।

एसपी विजय खत्री ने बताया कि कई आला अधिकारी इस महिला प्रीति जैन से लगातार पूछताछ कर रहे हैं।

इस संबंध में एक एसआईटी भी गठित की गई है पुलिस अब तक ड्रग्स मामलों में चार एफ आई आर दर्ज कर चुके हैं और अभी तक 9 लोगों की गिरफ्तारी हो गई है।

इसमें मुख्य रूप से सागर जैन और प्रीति जैन के नाम सामने आए थे पुलिस ने विभिन्न स्थानों पर अपनी टीमें रवाना की है।

इस मामले में तीन बिंदुओं पर जांच कर रही है जिसमें इनका जो नेटवर्क है उसे ध्वस्त करना दूसरा मादक द्रव्यों की सप्लाई कहां से हो रही है और इसका मुख्य स्रोत कौन सा है।

इसका भी पता लगा जा रहा है साथ ही मादक पदार्थों का कारोबार करने वालों ने जो संपत्ति आप खड़ी की हैं उन्हें भी ध्वस्त करने की कार्यवाही की जा रही है

पुलिस ने कहा कि जो युवा व्यक्ति इस नशे के जाल में फंस गए हैं। उनको पुनर्वास और उनके इलाज की व्यवस्था की जा रही है फिलहाल उनके खिलाफ मामले दर्ज नहीं किए जाएंगे।

पुलिस ने यह बताया कि गिरफ्तार की गई प्रीति जैन मुख्य ड्रग सप्लायर थी और वह ड्रक्स लाकर इंदौर में बिचौलिए और ड्रग पैडलर्स को दिया करती थी जिनमें पूल क्लब, बड़ी होटल, निजी पार्टियां और जिम सेंटर्स भी शामिल है। पुलिस को यह भी पता लगा है कि दिन में आने वाले कस्टमर को जिम ट्रेनर इस ड्रग्स को लेने के लिए प्रोत्साहित करते थे।

गौरतलब है कि बांग्लादेशी युवतियों की देह व्यापार में पकड़ाई गए महिलाओं से पूछताछ में महिलाओं ने बताया था कि उन्हें एमडीएमए में नाम की ड्रग्स दी जाती थी जिससे उनका शारीरिक शोषण ज्यादा से ज्यादा किया जा सके।

पुलिस ने देह व्यापार में 30 आरोपियों को गिरफ्तार किया था जिसमें से 21 लोगों को इनके चुंगल से मुक्त कराया गया था जिसमें से 11 बांग्लादेशी महिलाएं भी थी।

फिलहाल पुलिस ने जिन जिम सेंटर के खिलाफ शिकायत मिली थी उनके जिम ट्रेनर्स को गिरफ्तार किया है।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]