नकली फार्मा : ग्लूकोज और नमक से 1 लाख रेमडेसिविर तैयार कर देशभर में बेचा। – News

नकली फार्मा : ग्लूकोज और नमक से 1 लाख रेमडेसिविर तैयार कर देशभर में बेचा।

आरोपी कौशल वोरा, सुनील मिश्रा, पुनीत शाह।

नकली रेमडेसिविर बेचने वाली सूरत की गैंग से खुलासा हुआ है कि कोरोना की दूसरी लहर में आरोपी एक लाख से ज्यादा नकली इंजेक्शन पूरे देश में सप्लाय कर चुके हैं।

आरोपियों ने बताया कि सूरत में मास्क व ग्लव्स का कारोबार करने वाले कौशल वोरा और उसके पार्टनर पुनीत शाह ने एक लाख से ज्यादा नकली रेमडेसिविर तैयार कर मुंबई के रास्ते देशभर में बेचे। कबाड़ में इंजेक्शन की खाली बोतलें खरीदने के बाद मुंबई में रैपर तैयार कराए।

गुजरात के मोरबी स्थित फार्म हाउस पर नमक व ग्लूकोज मिलाकर नकली इंजेक्शन बना रहे थे। एक इंजेक्शन 80 रुपए में तैयार कर दलालों की मदद से बाजार में 35-40 हजार में बेचते थे।

सूरत पुलिस ने फार्म हाउस से एक लाख नकली इंजेक्शन जब्त किए हैं। आरोपियों ने इंदौर (लिंबोदी) के सुनील मिश्रा को एक हजार इंजेक्शन देने के अलावा 100 इंजेक्शन दवा बाजार के कारोबारी को भी बेचे हैं।

80 रुपए की लागत, बाजार में 35 हजार में बेचते

सुनील ने बताया कि कौशल व पुनीत नकली इंजेक्शन तैयार कर 6 हजार में दलाल को बेचते थे। दलाल असीम भाले इसे आरोपी प्रवीण उर्फ सिद्धार्थ को 8 हजार 500, प्रवीण धीरज को 16 हजार 500, धीरज 24 हजार में दिनेश चौधरी को और दिनेश ने सोशल मीडिया से लोगों को 35 से 40 हजार में इंजेक्शन बेचे। इसमें प्रिया नामक युवती भी सक्रिय थी।

एक लाख इंजेक्शन पर एक ही बैच नंबर

सुनील ने कबूला कि जल्दबाजी में सभी इंजेक्शन पर एक ही बैच नंबर (246039 ए) डाल दिया था। कुछ इंजेक्शन विजय नगर पुलिस के कांस्टेबल भरत बड़े ने ग्राहक बनकर खरीदे तो सभी में एक ही बैच नंबर मिले। यहीं से आरोपियों की लिंक मिली। आरोपियों ने मुंबई को सेंट्रल पॉइंट बनाकर दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, मप्र, राजस्थान में इंजेक्शन बेचे हैं।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]