कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर पर किसान नेता बोले- जिन्हें अस्पतालों में बेड न मिले वो MLA और MP के घरों में जाकर डेरा डालें – Delhi NCR

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर पर किसान नेता बोले- जिन्हें अस्पतालों में बेड न मिले वो MLA और MP के घरों में जाकर डेरा डालें

भारत में जब कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने दस्तक दी। तो केंद्र सरकार ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। जिसका नतीजा यह निकला कि आज इस घातक महामारी की वजह से लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। हर दिन भारत में तीन लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं।

भारत के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन और वैक्सीन की तंगी आ चुकी है। जिसके चलते मरीजों का इलाज नहीं हो पा रहा है। इस मामले में अब भारतीय किसान यूनियन हरियाणा के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने बड़ा बयान दिया है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि “अगर कोरोना मरीजों को अस्पताल में बेड और ऑक्सीजन नहीं मिलते हैं। तो वे अपने एमएलए और एमपी के घरों में जाकर डेरा डालें।”

अस्पतालों में हो रही ऑक्सीजन और बेड्स की कमी के लिए किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने नेताओं को जिम्मेदार ठहराया है। जो मरीजों को इस महामारी में स्वास्थ्य सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं करवा पा रहे हैं।

वहीं संयुक्त किसान मोर्चा के किसान नेता दर्शन पाल ने भी इस मामले में भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है।

उन्होंने कहा है कि देश में आए इस महा संकट के दौरान भी किसान आंदोलन काफी मजबूती के साथ चल रहा है। इस आंदोलन को तोड़ने के लिए किसी भी तरह की अफवाह फैलाई जा सकती है। किसानों को एकता बनाए रखनी चाहिए।

इसके साथ ही किसान संगठनों ने मई दिवस को किसान मजदूर एकता दिवस के रूप में मनाए जाने का ऐलान किया है।

इसके साथ ही उन्होंने किसान नेताओं को यह सलाह भी दी है कि किसी भी मामले में उसकी सच्चाई को पता किए बिना कोई बयान ना दिया जाए। क्योंकि इस वक्त सोशल मीडिया पर कई तरह की अफवाह फैलाई जा रही है।

गौरतलब है कि कृषि कानूनों को रद्द करवाने और एमएसपी के लिए कानून बनाए जाने की मांग के लिए बीते साल से किसान संगठन आंदोलन कर रहे हैं।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]