उत्तराखंड के देवप्रयाग में बादल फटने से तबाही, SDRF की टीमें लगी राहत बचाव के काम में। – News

उत्तराखंड के देवप्रयाग में बादल फटने से तबाही, SDRF की टीमें लगी राहत बचाव के काम में।

उत्तराखंड में उत्तरकाशी में सोमवार को बादल फट गया। यह घटना चिन्यालीसौड़ ब्लॉक के कुमराड़ा गांव में हुई। इससे यहां बनी कैनाल का पानी ओवरफ्लो होकर घरों में घुस गया। पानी के साथ आई मिट्टी से घरों की दीवारें कई फीट तक दब गईं। वंही रुद्रप्रयाग जिले के नरकोटा में भी बादल फटने से पहाड़ों की मिट्टी पानी के साथ बहकर घरों में आ गई।

ग्रामीणों ने ऊंचे इलाकों में जाकर अपनी जान बचाई। पानी और मलबे का बहाव करीब एक घंटे तक चला। इससे लोगों के घरों के कई सामान खराब हो गए। उत्तरकाशी के जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल ने बताया कि बादल फटने के कारण ग्रामीणों के खेत और घरों में पानी भर गया है।

देवप्रयाग के एसएचओ एमएस रावत ने बताया है कि शाम 5 बजे के करीब बादल फटने की सूचना हमें मिली। शुरुआती जानकारी के मुताबिक, 12-13 दुकानों और कई अन्य संपत्तियों को नुकसान हुआ है।

वो तो गनीमत थी कि लॉकडाउन के कारण ज्यादातर दुकानें बंद थी, इसलिए अभी तक कोई हताहत नहीं हुआ है। हालांकि इलाके में जलस्तर काफी बढ़ गया है। कई मकान हुए क्षतिग्रस्त-

DGP वहीं डीजीपी अशोक कुमार ने बताया है कि बादल फटने की घटना से कई दुकानें और मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं। हालांकि अभी किसी के हताहत होने की कोई सूचना नहीं है,

SDRF की टीमें घटना वाली जगह पर पहुंच गई है और राहत बचाव का कार्य चल रहा है। जिलाधिकारियों को हालात पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस घटना में IIT की बिल्डिंग ढह गई है।

3 मई को भी टिहरी में फटा था बादल

आपको बता दें कि अभी 3 मई को भी उत्तराखंड के टिहरी, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग जिले में बादल फटने की खबर सामने आई थी। रुद्रप्रयाग व उत्तरकाशी जिलों में बादल फटने की खबर का तत्काल संज्ञान लेते हुए संबंधित जिलाधिकारियों से फ़ोन पर जानकारी ली और उन्हें प्रभावितों को तुरंत राहत और सहायता राशि देने के निर्देश दिया था।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]