बाँदा के प्राण वायु देवता ,जरूरत मंदों को कराते हैं मुफ्त में ऑक्सीजन मुहैया – बाँदा

बाँदा के प्राण वायु देवता ,जरूरत मंदों को कराते हैं मुफ्त में ऑक्सीजन मुहैया

-पूरा देश इस वक्त कोरोना महामारी की वजह से ऑक्सीजन की कमी से जूझने में लगा हुआ है ऐसे में उत्तर प्रदेश के बाँदा जनपद के अतर्रा कस्बे के रहने वाले युवाओं के द्वारा एक ऐसा सराहनीय कार्य शुरू किया गया है जिसकी वजह से उन्हें जनपद में प्राण वायु(ऑक्सीजन) देवता के नाम से जाना जा रहा है। इन युवाओं की टीम दिन रात गरीबों, असहायों,और जरूरत मंद लोगों की सेवा में लगी हुई है। इनके द्वारा सभी जरूरत मंद लोगों तक तत्काल ऑक्सीजन की मदद पहुँचाने का काम किया जा रहा है।

ये कोई नई बात नहीं है अधिकतर लोग एक दूसरे की मदद करते हैं ।लेकिन इन युवाओं के द्वारा एक ऐसी सराहनीय मुहिम की शुरुआत की गई है जिससे लोगों को जिंदगी जीने के लिए चंद साँसे मिल जाती है और वह मरीज इस महामारी से लड़ कर जीवन पा जाता है।

इस काम के लिए इन दो भाइयों ने अपनी कीमती कार को एक एम्बुलेंस में परिवर्तित कर दिया है और जब किसी सीरियस मरीज को एम्बुलेंस नही मिल पाती तो इनके द्वारा अपनी कार में उस मरीज को ऑक्सीजन लगा कर अस्पताल तक भी छोड़ने का काम किया जाता है।

जनपद के अतर्रा कस्बे के रहने वाले वाले सेवानिवृत्त अध्यापक रविकांत शुक्ला के पुत्र रोहित शुक्ला और राहुल ने एमबीए किया है और 2020 से पहले तक वे दिल्ली में रहते थे और पहले गूगल में नौकरी करते थे इसके बाद राहुल ने वहां अपना रेस्तरां भी खोला था लेकिन कोविड कि 2020 में आई पहली लहर के बाद ये बाँदा आ गए और कोरोना मरीजों की परेशानियों को व सिस्टम की अव्यवस्था को देखते हुए इन्होंने ऐसे लोगों की मदद करने की ठानी और सोसल मीडिया के माध्यम से कोरोना पीड़ित मरीजों से सम्पर्क कर उन्हें मदद पहुंचाने का कार्य शुरू कर दिया। यहां तक कि इन दोनों भाइयों ने अपनी स्कोडा कार को भी लोगों की मदद के लिए एम्बुलेंस के रूप में इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है ये दोनों भाई कोरोना संक्रमण के चलते पीड़ित मरीजों को ऑक्सीजन सिलेंडर ,दवाइयां उनके घर तक पहुंचाते हैं साथ ही अगर किसी को एम्बुलेंस नही मिलती तो ये अपनी गाड़ी से मरीज को अस्पताल तक पहुंचाने का काम भी करते हैं। इनके जज्बे को देखकर अब इनके साथ कस्बे के कुछ और युवक भी जुड़ गए हैं ।

-इन परोपकारी भाइयों से जब इस नेक काम की शुरुआत को लेकर बात की गई तो उन्होंने बताया कि हमारी पूरी शिक्षा बाहर ही हुई है और हरियाणा ,गुड़गांव में रहकर कर्मशील ,सेवाभाव रखने वाले लोगों के बीच में रहकर हमे यह प्रेरणा मिली है इतना ही नही वहां रह कर भी हमारे द्वारा लगातार सेवाभाव का काम किया जाता रहा है। कई मल्टी नेशनल कंपनियों में काम करने के बाद भी हमे सुकून नही मिला हमे लगता है कि असली सुख और सुकून अगर कहीं मिलता है तो वो है गरीबों असहायों की मदद करने में। इसीलिए हम लोगों ने सब कुछ छोड़ कर इस आपदा में लोगों की मदद करने का बीड़ा उठाया है।

हम लोगों के द्वारा चलाई जा रही मुफ्त ऑक्सीजन मुहिम पहले तो केवल कस्बे तक ही सीमित थी लेकिन जैसे जैसे लोगों तक जानकारी पहुचती गयी और हमारी मुहिम बढ़ती गयी आज हम लोगों के द्वारा बाँदा से लेकर मध्यप्रदेश तक अपनी सेवाएं उपलब्ध करा रहे हैं । इतना ही नहीं यदि किसी को यूपी या उससे बाहर से प्रान्तों में भी ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है और हमारे पास मदद के लिए फोन आता है तो हमारे द्वारा अपने सोर्सेस से वहां भी हम लोग आक्सीजन मुहैय्या करा कर लोगों की मदद कर रहे हैं।

हमारी देश की और प्रदेश की जनता से यह अपील है कि सभी को हमारी इस मुहिम में सहयोग करना चाहिए और हर जनपद में लोगों की मदद के लिए हाथ बढ़ाना चाहिए।

Vairochan Media (Opc) Private Limited

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]