उत्तरखंड: आखिर कैसे हुई चार लोगों की हत्या, पुलिस ने किया खुलासा। – उत्तराखंड

उत्तरखंड: आखिर कैसे हुई चार लोगों की हत्या, पुलिस ने किया खुलासा।

The Netizen News

रूद्रपुर- प्रॉपर्टी के लालच में दामाद ने सास- ससुर और दो सालियों को उतारा मौत के घाट। रुद्रपुर के ट्रांजिट कैंप में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है।

जहां एक आदमी ने प्रॉपर्टी के लालच में अपनी सास ससुर और दो सालियों को मौत के घाट उतार कर उनके मकान में ही दफन कर दिया था। खबरों के मुताबिक चारों लोगों की हत्या दामाद ने की है।

मामला 1 साल पहले का है हत्या के बाद चारों को घर में ही दफन कर दिया था। बताया जा रहा है कि दामाद ने चारों की हत्या प्रॉपर्टी के लालच में की थी। पुलिस ने आरोपी और उसकी पत्नी को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है।

सूचना के बाद एसएसपी दलीप सिंह कुँवर, आईजी कुमाऊं सहित पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई हत्यारोपित के बताए गए स्थान पर शव को ढूंढने के लिए खुदाई की गयी। जंहा लाश सड़ी गली अवस्था में बरामद हो गए।

यह भी जाने- उत्तराखंड: घर के अंदर परिवार के चार लोगों के शव गड़े होने की सूचना से मचा हड़कंप

जिसके बाद पुलिस ने चारों शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। खबरों के मुताबिक मिली जानकारी के अनुसार रुद्रपुर निवासी हीरालाल 55 वर्ष उसकी पत्नी श्रीमती 45 वर्ष और दो बेटियां पार्वती 24 वर्ष दुर्गा 20 वर्ष कार्यक्रम क्षेत्र के राजा कॉलोनी के रहने वाले थे।

मृतक हीरालाल ने अपनी सबसे बड़ी बेटी लीलावती की शादी नरेंद्र गंगवार से की थी। शादी के बाद से दमाद नरेंद्र भी ससुराल में रहने लगा था। बता दें कि साल 2015 में जमीन को लेकर आपस मैं झगड़ा हुआ था आरोपी दमाद नरेंद्र और बड़ी बेटी लीलावती पूरी प्रॉपर्टी हड़पना चाहते थे।

जबकि हीरालाल की दो और बेटियां थी जब पूरी प्रॉपर्टी नरेंद्र के नाम करने से इंकार कर दिया तब नरेंद्र ने अपनी पत्नी और अपने बच्चों को लेकर अलग रहने लगा।

वही बताया जा रहा है कि पिछले साल 20 अप्रैल 2019 में नरेंद्र उसकी पत्नी एवं किराएदार विजय ने प्लान बना कर चारों को मौत के घाट उतार दिया था। पूछताछ में नरेंद्र ने बताया है कि बीते साल 20 अप्रैल को तीनों ने मिलकर पहले ससुर फिर साली और सास की हत्या कर दी उसके बाद तीनों ने चारों के शव वही घर में ही दफन कर दिया।

मृतक हीरालाल का उत्तर प्रदेश के बरेली के मीरगंज में मकान और 12 बीघा खेत भी है जिसकी देखरेख वहां दुर्गा प्रसाद करते हैं। अगस्त में नरेंद्र बरेली के मीरगंज गया था दुर्गा प्रसाद को उसने बताया कि ससुर और साली की मौत हो चुकी है जिनका पिछले साल की अंतिम संस्कार कर दिया है।

जबकि सास और साली 1 साल से लापता है इसलिए प्रॉपर्टी नरेंद्र के नाम कर दें दुर्गा प्रसाद को नरेंद्र की बात पर संदेह हुआ जिसके बाद वे रुद्रपुर आ गए। आसपास के लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि मकान 1 साल से बंद है ।

उन्होंने मामले की सूचना पुलिस को दी जिसके बाद पुलिस हरकत में आई पूछताछ के लिए उसकी पत्नी को एवं मित्र विजय को थाने लाया गया। जहां पूछताछ में नरेंद्र ने हत्या की बात कबूली।


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Latest Post

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]