आर्थिक मोर्चे पर देश को तिहरा झटका, महंगाई दर दिसंबर में बढ़कर 2.59%, 6 माह में दोगुणा से अधिक का इजाफा

आर्थिक मोर्चे पर देश को तिहरा झटका, महंगाई दर दिसंबर में बढ़कर 2.59%, 6 माह में दोगुणा से अधिक का इजाफा

Plz. Share this on your digital platforms.
75 Views

थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति दिसंबर, 2019 में बढ़कर 2.59 प्रतिशत पर पहुंच गई। मुख्य रूप से प्याज और आलू के दाम बढ़ने से थोक मुद्रास्फीति बढ़ी है, जबकि नवंबर में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 0.58 प्रतिशत पर थी।

दिसंबर, 2018 में यह 3.46 प्रतिशत के स्तर पर थी। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी आंकड़ों के अनुसार दिसंबर में खाद्य वस्तुओं के दाम 13.12 प्रतिशत बढ़े।

एक महीने पहले यानी नवंबर में इनमें 11 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई थी। इसी तरह गैर खाद्य उत्पादों के दाम चार गुना होकर 7.72 प्रतिशत पर पहुंच गए। नवंबर में गैर खाद्य वस्तुओं की मुद्रास्फीति 1.93 प्रतिशत थी।

आंकड़ों के अनुसार, खाद्य वस्तुओं में माह के दौरान सब्जियां सबसे अधिक 69.69 प्रतिशत महंगी हुईं। इसकी मुख्य वजह प्याज है जिसकी मुद्रास्फीति माह के दौरान 455.83 प्रतिशत बढ़ी।

इस दौरान आलू के दाम 44.97 प्रतिशत चढ़ गए। इससे पहले, सोमवार को उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति दिसंबर में बढ़कर 7.35 प्रतिशत पर पहुंच गई, जो इसका पांच साल का उच्चस्तर है

Plz. Share this on your digital platforms.

Subscribe To Our Newsletter