कोरोना काल में अंधविश्वास की तरफ बढ़ता देश : गांव को Corona से बचाने के लिए किशोरी ने जीभ काटकर मंदिर में चढ़ाई।

कोरोना काल में अंधविश्वास की तरफ बढ़ता देश : गांव को Corona से बचाने के लिए किशोरी ने जीभ काटकर मंदिर में चढ़ाई।

Plz share with love

कोरोना काल में अब देश भर अंधविश्वासी टोटके सामने है, इतना ही नहीं कुछ टोटके ऐसे है जो जानलेवा है। देशभर में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के चलते अब लोग इससे बचने के लिए नए-नए तरीके अपना रहे हैं।

कुछ लोग तो अब अंधविश्वास का भी सहारा लेने लगे हैं जो कि जानलेवा तक साबित हो सकता है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के बांदा जिले से सामने आया।

यहां पर अंधविश्वास के चलते एक युवती की जान पर तो बन ही आई, साथ ही शायद अब वह जिंदगी भर बोल भी न सके. बांदा के भदवाल गांव में एक 16 साल की किशोरी ने अपनी जीभ काटकर मंदिर में चढ़ा दी।

कोरोना से गांव को बचाना था

बताया जा रहा है कि किशोरी का कहना था कि ऐसा करके उसके गांव को कोरोना की भयानक महामारी से बचाया जा सकता था. उसने कुछ दिनों पहले भगवान शिव से गांव की रक्षा करने की मन्नत मांगी थी और उसके ऐवज में जीभ काट कर चढ़ाने का निर्णय लिया था।

इस संबंध में किशोरी ने अपनी एक मित्र को भी बताया था कि गांव को बचाने के लिए कुछ तो करना ही होगा और भविष्य में वो ऐसा करने जा रही है. हालांकि उसकी मित्र ने किशोरी की बातों पर ध्यान नहीं दिया और टाल दिया।

हालत बिगड़ी और बेहोश हुई

किशोरी ने गांव के ही पास बने एक शिव मंदिर में जाकर अपनी जीभ काटकर भगवान को चढ़ा दी। खून ज्यादा बह जाने के कारण किशोरी बेहोश हो गई और उसकी हालत गंभीर हो गई। आनन फानन में उसे पास के अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां पर उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है और उसका इलाज जारी है।

अभी तक कोई मामला दर्ज नहीं

इस संबंध में अभी तक पुलिस में कोई भी मामला दर्ज नहीं किया गया है. हालांकि पुलिस मामले की जांच की बात कह रही है। पुलिस के अनुसार उन्हें अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है लेकिन ये पता लगाया जा रहा है कि किशोरी को ऐसा करने के लिए किसी ने बहकाया तो नहीं था।


Plz share with love

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]