हाथरस काण्ड : क्या आरोपियों को बचाने के लिए पीड़िता की हुयी हत्या ? जिला अस्पताल के अहम सीसीटीवी फुटेज हुए डिलीट। – नेटीजन विशेष

हाथरस काण्ड : क्या आरोपियों को बचाने के लिए पीड़िता की हुयी हत्या ? जिला अस्पताल के अहम सीसीटीवी फुटेज हुए डिलीट।

  •  
  • 8
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हाथरस में 14 सितंबर को 19 वर्षीय दलित लड़की के कथित गैंगरेप और हत्या की जांच सीबीआई कर रही है। सीबीआई की टीम जिला अस्पताल पहुंची, जहां उसे पीड़िता को घटना के बाद सबसे पहले ले जाया गया था।

अस्पताल में सीबीआई ने सबूत जुटाने शुरू किए। यहां पर सीबीआई ने 14 सितंबर का सीसीटीवी फुटेज लेना चाहा लेकिन वह बैकअप में नहीं था अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. इंद्रवीर सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन और पुलिस ने उस समय फुटेज नहीं लिए थे।

अब एक महीने बाद सीसीटीवी फुटेज बैकअप में नहीं हैं। उन्होंने कहा कि अगर अस्पताल प्रशासन को फुटेज रखने को कहा जाता तो वह रखवा लेते। हर सात दिनों में पिछला फुटेज डिलीट हो जाता है और नया फुटेज उसके ऊपर रेकॉर्ड हो जाता है।

डॉक्टरों के बयान दर्ज करने पहुंची सीबीआई

डॉक्टरों के बयान दर्ज करने और सबूतों की जांच करने के लिए सीबीआई की टीम अस्पताल पहुंची थी। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि घटना के पहले दिन की फुटेज महत्वपूर्ण हो सकती थी।

एक सूत्र ने कहा कि सीबीआई टीम फुटेज इसलिए चाहती थी ताकि पता हो सके कि पीड़िता को किस समय अस्पताल लाया गया, कब उसे बाहर लाया गया, पीड़िता से मिलने कौन-कौन आया, अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान उससे कितने लोगों ने बात की।

जांच में पुलिस ने नहीं देखा अस्पताल की फोटो

यह पूछे जाने पर कि पुलिस और प्रशासन ने पहले फुटेज की मांग क्यों नहीं की, एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि अपराध से संबंधित मामलों में अस्पताल का मतलब नहीं होता है।

उन्होंने कहा, ‘जब तक अस्पताल में कोई अपराध नहीं हुआ हो या लापरवाही नहीं हुई, इससे आपराधिक जांच पर कोई असर नहीं पड़ा। इनके बीच संबंध नहीं है। इसीलिए सीसीटीवी फुटेज पर ध्यान नहीं दिया गया।’


  •  
  • 8
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]