क्या बिहार में मरीज आत्मनिर्भर हो गए है ? कोरोना से जंग लड़ रहे बिहार के अस्पतालों की यह है हकीकत।

क्या बिहार में मरीज आत्मनिर्भर हो गए है ? कोरोना से जंग लड़ रहे बिहार के अस्पतालों की यह है हकीकत।

The Netizen News

नवादा : कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए एक तरफ देशभर के अस्‍पताल सुधारे गए हैं। वहीं, बिहार के इस अस्‍पताल का हाल देख लेंगे तो माथा पीट लेंगे। नवादा जिले के कौआकोल के पब्लिक हेल्‍थ सेंटर (PHC) के एक कमरे की छत शुक्रवार को अचानक गिर गई।

इससे भीतर मौजूद लोगों में अफरातरफरी मच गई। वो तो गनीमत रही कि किसी को खास चोट नहीं आई। तस्‍वीर से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि अगर किसी पर इतना मलबा गिरता तो उसका क्‍या हाल होता। पीएचसी की बिल्डिंग पूरी तरह जर्जर हो चुकी है। पहले भी ऐसी कई घटनाएं सामने आई हैं।

पीएचसी के प्रधान लिपिक कौशलेंद्र किशोर प्रसाद ने बताया कि वे अपने ऑफिस में काम कर रहे थे। अचानक भवन की जर्जर छत का प्लास्टर टूटकर नीचे गिर गया। गनीमत रही कि कुछ विशेष नुकसान नहीं हुआ। इस घटना के बाद अस्पताल परिसर में कुछ देर के लिए अफरातफरी का माहौल कायम हो गया।

शिकायत हुई मगर मरम्‍मत नहीं : बिल्डिंग की रिपयेरिंग को लेकर कई बार अधिकारियों को सूचना दी गई। मगर कोई ठोस कार्रवाई नहीं किए जाने से आए-दिन घटनाएं होते रहती हैं। पीएचसी के स्‍टाफ और मरीज बेहद डरे हुए हैं कि न जाने कब फिर ऐसा हादसा हो जाए।


The Netizen News

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]