कपिल सिब्बल : प्रधानमंत्री देश को उधार की सांसे देना चाहते है ?पूँछ पीएम केयर से कितनी की मदद

कपिल सिब्बल : प्रधानमंत्री देश को उधार की सांसे देना चाहते है ?पूँछ पीएम केयर से कितनी की मदद

कपिल सिब्बल ने प्रधानमंत्री मोदी से पूछा- प्रवासी मजदूरों को पीएम केयर्स से कितनी दी सहायता

The Netizen News

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने रविवार को प्रधानमंत्री से सवाल किया कि पीएम केयर्स फंड से मजदूरों को कितना पैसा दिया गया है।

सिब्बल ने एक वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, “मैं प्रधान मंत्री मोदी से पूछना चाहूंगा, ‘क्या आप हमें बता सकते हैं कि आपने अपने पीएम-केयर्स फंड से मजदूरों को कितना पैसा दिया?” मैं उनसे इस सवाल का जवाब देने का अनुरोध करता हूं।

इस दौरान कई लोगों की मौत हो गई, कई पैदल चलने वालों की मौत हुई, कुछ की मौत ट्रेन में हुई, कुछ की मौत भूख से हुई। “

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने आगे पूछा कि लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री ने कोरोना संकट में मारे गए मजदूरों को कितना अनुदान दिया।

सरकार करे स्पष्ट

उन्होंने कहा, “मैं आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 12 का उल्लेख करता हूं। यह कहता है कि जीवन की हानि के कारण पूर्व सहायता और आजीविका की बहाली के लिए सहायता भी सरकार द्वारा प्रदान की जानी चाहिए। क्या सरकार ने लोगों को पूर्व अनुदान सहायता प्रदान की है।

अधिनियम में विधवाओं और अनाथों के लिए विशेष प्रावधानों का भी उल्लेख है। सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि उन्होंने ऐसे लोगों को कितनी सहायता दी।”

गरीब समर्थक नीतियां बनाए सरकार

सिब्बल ने कहा कि सरकार को पिछले छह साल के अपने एजेंडे को अलग रखना चाहिए और गरीब समर्थक नीतियां बनाने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। कांग्रेस नेता ने कहा,

” आरबीआई ने पुष्टि की है कि आने वाले दिनों में, हमारी अर्थव्यवस्था नकारात्मक क्षेत्र में जाने वाली है। हमारे देश में 45 करोड़ श्रमिक हैं। उनकी स्थिति क्या होगी? हमें अपने भविष्य को देखना होगा।

इसलिए हम चाहते हैं कि सरकार से अनुरोध करने के लिए कि पिछले छह वर्षों में उन्होंने जो एजेंडा चलाया है, उसे अलग रखा जाए और सरकार को गरीबों के लि मसौदा नीतियों की परवाह करनी चाहिए। ”

देश में बढ़ रहे मामले

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, अब देश में कुल मरीजों की संख्या 1 लाख 73 हजार 783 है, जिसमें 4 हजार 971 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, कोरोना से ठीक होने वालों का आंकड़ा बढ़कर 82 हजार के पार पहुंच गया है। अब तक 82 हजार 370 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि 86 हजार 422 एक्टिव केस हैं।


The Netizen News

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]