चीन का नाम लेने से 'डरने' लगे प्रधान मंत्री : शिव सेना – News

चीन का नाम लेने से ‘डरने’ लगे प्रधान मंत्री : शिव सेना

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अपने मुखपत्र सामना के जरिए भी शिवसेना BJP और पीएम मोदी पर खुलकर प्रहार कर रही है। इस बार सामना के संपादकीय में शिवसेना ने मोदी सरकार पर चीन के प्रति आक्रामकता में कमी का आरोप लगाया और जमकर हमला बोला है।

संपादकीय में शिवसेना ने कटाक्ष करते हुए कहा कि चीन सिक्किम के डोकलाम गांव में घुस गया है जबकि अरुणाचल,हिमाचल और उत्तराखण्ड की सीमा में घुसने की तैयारी में है और मोदी सरकार लोगों के ध्यान को बांटने के लिए भारत-पाकिस्तान के बीच तल्खी पर बयान देकर भटका रहे है।

सामना में शिवसेना ने तल्ख टिप्पणी करते हुए मोदी सरकार पर चीन का नाम लेने से “डरने” का आरोप लगाया और कहा कि जैसे कश्मीर में आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान का नाम लेने दम दिखाया, ऐसा चीन के मामले में क्यों नहीं जबकि चीन हमारी देश की सीमा में घुस चुका है।

संपादकीय में शिवसेना ने बीजेपी नेताओं को चुनौती देते हुए कहा कि जो बीएमसी से भगवा हटाने का दम भर रहे हैं, अगर साहस है तो सीमा पर चीनी झंडे को हटाने का साहस दिखाएं।

अपने मुखपत्र में शिवसेना ने कहा कि चीनी सैनिकों ने भारत की सीमा के अंतर्गत लद्दाख में घुसपैठ की। चीनी सैनिक जो भीतर आए हैं, वे वापस जाने को तैयार नहीं हैं। वहां से हटने को लेकर दोनों देशों की सेना अधिकारियों के बीच चर्चा और जोड़-तोड़ शुरू है।

चीनी हमारी सीमा में घुस आए हैं लेकिन हमने चर्चा और जोड़-तोड़ का तरीका स्वीकार किया, इसे आश्चर्यजनक ही कहा जाएगा। जमीन हमारी और नियंत्रण चीनी सेना का लेकिन प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री और भाजपा के नेताओं ने चीन का नाम लेकर कुछ धौंस दिखाई हो, ऐसी तस्वीर नहीं दिखती। ये सब चेतावनी आदि पाकिस्तान के लिए सुरक्षित रखा होगा।

भारत के मित्र देश भूटान की सीमा में चीनी सेना घुस चुकी है और डोकलाम के पास एक गांव को उसने अपने नियंत्रण में ले लिया है। ये गांव भूटान-भारत की सीमा पर है। वहां चीन का घुसना हमारे लिए खतरनाक है।

इसके पहले डोकलाम सीमा पर चीनी सेना घुसी ही थी और वहां भारतीय सेना के साथ उसकी बार-बार झड़पें हो चुकी हैं। अब डोकलाम पार करके चीनी सैनिक गांव में आकर बैठ गए हैं।

सामना में शिवसेना ने आगे कहा कि भूटान की संप्रभुता की रक्षा करने की जिम्मेदारी भारतीय सेना की है क्योंकि भूटान का कमजोर होना मतलब भारत की सीमा को चीरने जैसा होगा।

पाकिस्तान नहीं, बल्कि चीनी सेना हमारी सीमा में सीधे घुस आई है फिर भी दिल्लीश्वर आंखें बंद करके ‘हिंदुस्तान बनाम पाकिस्तान’ की झांझ-करताल बजा रहे हैं।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Latest Post

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]