पानीपत/यमुनानगर: मिड डे मील और राशन डिपो में आटे के नाम पर धोखाधड़ी, हैफेड की भी नहीं सुन रही फर्म, केस – नई दिल्ली

पानीपत/यमुनानगर: मिड डे मील और राशन डिपो में आटे के नाम पर धोखाधड़ी, हैफेड की भी नहीं सुन रही फर्म, केस

The Netizen News

पानीपत/यमुनानगर:  मिड डे मील और राशन डिपो का आटा भेजने में खेल हो रहा है। हैफेड ने जिस फर्म को ठेका दिया था। वह मध्य प्रदेश की कंपनी का आटा सप्लाई कर रहा था, जबकि हैफेड की ओर से दिए गए गेहूं का आटा तैयार कर सप्लाई करना था।

एसडीएम बिलासपुर की जांच की यह खेल पकड़ में आया। अब श्री बालाजी फूड इंडस्ट्रीज साढौरा के संचालक राजेंद्र प्रसाद बंसल के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ है। 

हैफेड ने राशन डिपो व मिड डे मील के तहत आटा भिजवाने के लिए श्री बालाजी फूड इंडस्ट्रीज के साथ दो मई 2020 को करार किया था। मार्च 2021 तक इस फर्म को आटा सप्लाई करना था। गत 21 मई को एसडीएम बिलासपुर ने मिल की सरप्राइज विजिट की।

सबसे पहले समाचार पाने के लिए लाइक करें

जहां पर 50 किलो के 233 बैग ओम शुभ लाभ एग्रीटेक प्राइवेट लिमिटेड यूनिट वन मालनपुर मध्य प्रदेश के मिले। उनके पास ही खाली हैफेड मार्का के बैग पड़े हुए थे।

इसके साथ ही प्रोसेसिंग यूनिट के पास ही वजन करने की मशीन भी पड़ी हुई थी। जिससे सामने आया कि बाहर से आटा मंगवाकर हैफेड के बैगों में डालकर सप्लाई किया जा रहा था। जबकि ठेका हैफेड के गेहूं की पिसाई कर आगे सप्लाई करने का था। 

गुणवत्ता में भी मिली खामियां: एसडीएम बिलासपुर ने इस पूरे मामले में जांच रिपोर्ट तैयार कर डीसी को भेजी। जांच रिपोर्ट में कहा गया कि फोर्टिफाइड आटा तैयार करने में गुणवत्ता का ख्याल नहीं रखा गया।

जहां आटा तैयार किया जा रहा था, वह जगह भी गंदी थी। इस रिपोर्ट के आधार पर ही हैफेड डीएम अनिल अहलावत ने पुलिस को शिकायत दी।

साढौरा थाना प्रभारी बलबीर सिंह ने बताया कि शिकायत के आधार पर आरोपित फर्म संचालक राजेंद्र प्रसाद के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है।


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Latest Post

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]