निजी ट्रेनों का किराया जितना चाहें उतना रख सकते हैं ऑपरेटर्स, सरकार का कोई दख़ल नहीं- रेलवे ने किया साफ़। – News

निजी ट्रेनों का किराया जितना चाहें उतना रख सकते हैं ऑपरेटर्स, सरकार का कोई दख़ल नहीं- रेलवे ने किया साफ़।

The Netizen News

भारतीय रेलवे ने साफ कर दिया है कि प्राइवेट ऑपरेटर्स के लिए यात्री ट्रेनों का अधिकतम किराया तय करने की सीमा नहीं रखी गई है।

इसके साथ ही प्राइवेट ऑपरेटर्स को किराया तय करने के लिए किसी अथॉरिटी की मंजूरी की भी जरुरत नहीं होगी। इसका मतलब ये है कि प्राइवेट ऑपरेटर्स जो ट्रेन चलाएंगे, वो उनका किराया अपनी मर्जी से बाजार के हिसाब से तय कर सकेंगे।

बता दें कि रेलवे 109 रूट्स पर 151 ट्रेनों का संचालन 35 साल के लिए निजी ऑपरेटर्स को देने की योजना बना रहा है। प्राइवेट ऑपरेटर्स के भावी बोलीदाताओं ने कुछ सवाल उठाए थे।

सबसे पहले समाचार पाने के लिए लाइक करें

जिन पर रेलवे ने शुक्रवार को जवाब दिया है। जिसमें कहा गया है कि प्राइवेट ऑपरेटर्स बाजार मूल्य के हिसाब से किराया वसूल सकेंगे और इसके लिए किसी अप्रूवल की जरुरत नहीं है।

इस प्रावधान को कोर्ट में चुनौती ना दी जा सके इसके लिए सरकार जल्द ही इसे कैबिनेट से मंजूरी दिला सकती है। रेलवे एक्ट के तहत सिर्फ केन्द्र सरकार या विभिन्न मंत्रालय मिलकर रेलवे के किराए का निर्धारण करेंगे।


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]