MP: 'मैंने भैंस का दूध पिया है, उसका कर्ज अदा करना है- छुट्टी के लिए कॉन्स्टेबल ने किया आवेदन – भोपाल

MP: ‘मैंने भैंस का दूध पिया है, उसका कर्ज अदा करना है- छुट्टी के लिए कॉन्स्टेबल ने किया आवेदन

The Netizen News

एमपी के रीवा से एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है। जहाँ एसएएफ 9 वीं बटालियन में पदस्थ आरक्षक कुलदीप तोमर का लिखा हुआ एक पत्र इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।

आरक्षक (कॉन्स्टेबल) ने बीमार भैंस की सेवा करने के लिए विभाग छुट्टी की मांग की है। आरक्षक ने पत्र में यह भी लिखा है कि उन्होंने हमेशा भैंस का दूध पिया है और अब उसका कर्ज अदा करना है।

दरअसल, एसएएफ के 9वीं बटालियन में पदस्थ आरक्षक कुलदीप तोमर की मां लंबे समय से बीमार है, जिसके लिए आरक्षक 10 दिन की छुट्टी पर भी गए थे और उनके वापस आने के बाद ही यह पत्र सोशल मीडिया पर काफी तेजी के साथ वायरल होने लगा है।

वायरल पत्र में लिखा है कि आरक्षक की मां की तबीयत खराब है, जिसके लिए उन्हें छुट्टी चाहिए। वहीं, आरक्षक के घर में एक भैंस है, जिसने अभी हाल ही में बच्चा दिया है और उस भैंस की सेवा के लिए उन्हें विभाग से छुट्टी चाहिए।


मैंने भैंस का दूध पिया है: पत्र में आरक्षक ने यह भी लिखा है कि बचपन से ही वह इस भैंस का दूध पीते आए हैं, जिसके लिए उन्हें दूध का कर्ज भी अदा करना है।

वहीं, इस पूरे मामले पर जब आरक्षक से संपर्क किया गया, तो उन्होंने खुद से यह पत्र लिखने से इनकार कर दिया। वहीं, अधिकारियों ने वायरल पत्र की जांच करने की बात कही हैं।

वायरल चिट्ठी में आगे लिखा हुआ है कि मैं भैंस का दूध पीकर ही भर्ती के लिए दौड़ की तैयारी करता था। मेरे जीवन में उस भैंस का बहुत महत्वपूर्ण स्थान है।

उस भैंस के कारण ही आज मैं पुलिस में हूं। भैंस ने मेरे अच्छे और खराब समय में साथ दिया है। ऐसे में मेरा भी फर्ज बनता है, मैं भैंस का ऐसे समय में देखभाल करूं।

वहीं, चिट्ठी वायरल होने के बाद अधिकारियों ने आरक्षक को फटकार लगाई है। आरक्षक ने ऐसे पत्र को लिखने से इनकार कर दिया।


The Netizen News

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]