मध्य प्रदेश : शिवराज का मंत्रिमंडल विस्तार इंदौर से कौन बनेगा मंत्री , इस पर भी अटका मामला

मध्य प्रदेश : शिवराज का मंत्रिमंडल विस्तार इंदौर से कौन बनेगा मंत्री , इस पर भी अटका मामला

The Netizen News


बीजेपी में सिंधियां और उनके गुट के शामिल हो जाने से शिवराज सिंह चौहान का मंत्रीमंडल विस्तार पहले भी कई बार टल चुका हैं,

आज उम्मीद थी कि मंत्रिमंडल विस्तार पर पूर्ण सहमती बन जाएगी मगर इंदौर से कौन बनेगा मंत्री और अन्य स्थानों से बीजेपी से कौन कौन मंत्री बनेंगे इस पर आपसी सहमती ना बन पाने से शिवराज सिंह चौहान को आज फिर दिल्ली रुकना पड़ा है ,

जबकि वें आज शाम भोपाल लौटने वाले थे |

गौरतलब है कि पिछली बार भी शिवराज मंत्रिमंडल में इंदौर को लेकर खासी माथा-पच्ची हुई थी और इंदौर को मंत्री पद से मुक्त रहना पड़ा था |

यदि अबकी बार फिर ऐसा होता है तो ये इंदौर के लिए फिर दुर्भाग्यपूर्ण होगा, वैसे उम्मीद है कि इंदौर को एक मंत्री और मिलना तय है मगर वो कौन होगा इस पर भी पार्टी में माथा-पच्ची जारी है |

शिवराज मंत्रिमंडल में सिंधिया ग्रुप के तुलसीराम सिलावट को तो पहले ही मंत्री पद मिल चुका है लेकिन उनके अलावा इंदौर से दूसरा मंत्री कौन होगा, इस बात पर एक बार फिर मामला फिर गड़बड़ा रहा है |

इंदौर से अभी भी तीन नाम दौड़ में दिख रहे है उनमें उषा ठाकुर ,रमेश मेंदोला और मालिनी गौड़ का नाम शामिल है लेकिन बहस रमेश मेंदोला और उषा ठाकुर के नाम पर ज्यादा हो रही है |

इसके पूर्व में मंत्री पद के लिए महेंद्र हार्डिया (बाबा)का नाम भी चला था लेकिन अब लगता है कि बाबा के नाम पर तो विराम लग गया है|

अब तीन नामों में से एक पर ही फैसला होना है लेकिन इन तीन नामों और प्रदेश के कुछ अन्य स्थानों के वरिष्ठ नेताओं के नामों को लेकर पार्टी में जो बहस हो रही है वो ये बताती है कि बीजेपी में सब कुछ पहले जैसा नहीं है और ये सब सिंधियां की शर्तों के कारण भी हो रहा है, जिसके कारण बीजेपी के कुछ वरिष्ठ नेताओं को मंत्री बनने का मौका हाथ से जाता दिख रहा है |

इसी कारण से मंत्रिमंडल का विस्तार भी लगातार टलते जा रहा हैं जिससे मंत्री पद की दौड़ में शामिल नामों के समर्थक भी निराश है |

यदि सब कुछ ठीक रहा तो आज रात शिवराज मंत्रिमंडल के सभी नाम फाइनल हो जाएंगे और उस बहस पर भी पूर्ण विराम लग जाएगा जो लम्बे समय से पार्टी और सोशल मीडिया पर जारी हैं |

उम्मीद है यदि इंदौर को लेकर ज्यादा खींचतान नहीं हुई तो कल जब शिवराज दिल्ली से भोपाल लौटेंगे तो उनकी झोली में इंदौर से भी एक नाम और होगा यदि खींचतान ज्यादा बढ़ी तो फिर ये भी हो सकता है कि इंदौर के नेता उम्मीद में उम्मीद से ही रह जाए…वैसे इन्दौरियों को पूर्ण विश्वास है कि अबकी बार इंदौर से दो मंत्री तो होंगे ही ……

साजिद खान


The Netizen News

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]