लाहौर में वकीलों ने अस्पताल पर किया हमला, 15 मरीजों की मौत, जाने कारण

लाहौर में वकीलों ने अस्पताल पर किया हमला, 15 मरीजों की मौत, जाने कारण

Plz. Share this on your digital platforms.
254 Views

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के लाहौर में बुधवार को प्रदर्शन कर रहे वकीलों ने अस्पताल पर हमला बोल दिया। इस दौरान 15 मरीजों की मौत हो गई और 25 डॉक्टर घायल हुए हैं।

घटनाक्रम के अनुसार सैकड़ों नाराज वकीलों ने पंजाब इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड पर हमला किया।

ग्रैंड हेल्थ एलायंस के चेयरमैन डॉक्टर सलमान हसीब ने बताया कि वकीलों ने इमरजेंसी वार्ड के शीशे तोड़ दिए, दवाइयों को नुकसान पहुंचाया और मशीनरी को भी तोड़ डाला और साथ ही पैरामैडिकल स्टाफ को धमकाया और ऑपरेशन को बीच में ही रुकवा दिया।

सबसे पहले समाचार पाने के लिए लाइक करें

पाकिस्तान के समाचार पत्र डॉन के मुताबिक बड़ी संख्या में वकील बुधवार को पंजाब इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी के बाहर एकत्र हो गए और एक वीडियो का विरोध करने लगे जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

 इसमें देखा गया है कि एक डॉक्टर अपने कुछ दोस्तों को बता रहा है कि कुछ वकीलों नें मिल कर पुलिस महानिदेशक पर एक डॉक्टर को फंसाने का दबाव बनाया था।

वीडियो में डॉक्टर बता रहा है कि वकील एक डॉक्टर को आतंकवाद निरोधक कानून के तहत डॉक्टर पर केस दर्ज करने का दबाब बना रहे थे।

डॉक्टर इस वीडियो में आगे कहता है कि आईजी के मना करने पर भी ये वकील उन पर डॉक्टर पर केस बनाने का दबाव बनाते रहे।

यह विरोध प्रदर्शन उस वक्त हिंसक हो गया जब वकीलों ने अस्पताल में जबरन घुसकर तोड़फोड़ की और बाहर खड़ी गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचाया।

इसके कारण मरीजों को ठीक से इलाज नहीं मिल पाया और एम्बुलेंस में सवार कई मरीज अस्पताल तक नहीं पहुंच सके।

पंजाब के सूचना मंत्री फइयजुल हसन चौहान ने बताया कि अस्पताल आने पर वकीलों ने उनके अपहरण का प्रयास किया।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मामले का संज्ञान लेते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री उसमान बुजदार को निर्देशित किया है कि मामले की तुरंत जांच की जाए।

Plz. Share this on your digital platforms.

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter