ईरान ने मिसाइल से मार गिराया था यूक्रेन का यात्री विमान, मांगी माफ़ी – विश्व

ईरान ने मिसाइल से मार गिराया था यूक्रेन का यात्री विमान, मांगी माफ़ी

The Netizen News

ईरान के सरकारी टीवी की रिपोर्ट के अनुसार सेना ने शनिवार को कहा कि ‘ग़लती’ से यूक्रेन के यात्री विमान को उसने ही मार गिराया था। इस विमान में 176 लोग सवार थे। ईरान की तरफ़ से आए बयान में इसे ‘मानवीय भूल’ कहा गया है।

बोइंग 737 फ्लाइट यूक्रेनियन इंटरनेशनल एयरलाइंस की थी। बुधवार को उड़ान के बाद इसे तेहरान के बाहरी इलाक़े में मार गिराया गया था। ईरान ने इराक़ में अमरीकी सैन्य ठिकानों पर मिसाइल से हमला किया था और उसके कुछ घंटे बाद ही इस विमान को मार गिराया गया था।

इससे पहले ईरान इस बात से इनकार कर रहा था कि उसने प्लेन को मार गिराया है। अमरीका और कनाडा ने अपनी ख़ुफ़िया सूचना के आधार पर कहा था कि ईरान ने इस विमान को मार गिराया था।

सबसे पहले समाचार पाने के लिए लाइक करें

यह विमान यूक्रेन की राजधानी कीएफ़ जा रहा था इसमें 167 पैसेंजर और चालक दल के नौ सदस्य थे. इस फ़्लाइट में ईरान के 82, कनाडा के 13 और यूक्रेन के 11 नागरिक सवार थे।

ईरान ने तेहरान में विमानों की आवाजाही पर रोक

बुधवार को जब ईरान ने इराक़ में अमरीकी सैन्य ठिकानों पर हमला शुरू किया तो इंटरनेशनल एयरलाइंस रूट में परिवर्तन हुए थे तो अमरीका ने अपने विमानों को ईरान के हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल नहीं करने का निर्देश दिया था।

कई विशेषज्ञ सवाल उठा रहे हैं कि ईरान ने तेहरान में प्लेन की आवाजाही पर रोक क्यों नहीं लगाई थी?सीएनएन को दिए इंटरव्यू में अमरीका के एक रिटयार्ड मेजर जनरल जेम्स मार्क्स ने ईरान से पूछा है कि उसने इराक़ में अमरीकी सैन्य ठिकानों पर मिसाइल हमले के बाद अपने हवाई क्षेत्र में यात्री विमानों की आवाजाही पर रोक क्यों नहीं लगाई?

मार्क्स ने कहा, ”जब आपको पता था कि तनाव चरम पर है. एयरस्पेस काफ़ी व्यस्त है. हर कोई सतर्क था क्योंकि ईरान ने इराक़ में मिसाइल दागी थी. ऐसे में तेहरान एयरपोर्ट से विमान को जाने देना बहुत ही ग़ैर-ज़िम्मेदाराना रवैया था.”


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]