इंदौर : पुलिस की बर्बरता का शिकार हुआ व्यापारी पुलिस जवान की हुई निलम्बन की कार्यवाही – इंदौर

इंदौर : पुलिस की बर्बरता का शिकार हुआ व्यापारी पुलिस जवान की हुई निलम्बन की कार्यवाही

The Netizen News


इंदौर में पुलिस की बर्बरता कम होने का नाम नहीं ले रही है ऐसा ही एक मामला सामने आया इंदौर के जूनी इंदौर थाना क्षेत्र में जूनी इंदौर थाना क्षेत्र में एक व्यापारी के साथ एक पुलिसकर्मी ने जमकर पिटाई की और जब यह पूरा मामला अधिकारियों का तक पहुंचा तो आला अधिकारियों ने पूरे मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिसकर्मियों को लाइन अटैच कर दिया वही मामले की जांच करते हुए निलंबन की कार्रवाई भी की जा रही है।

मामला जूनी इंदौर थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है बताया जा रहा है कि जून इंदौर थाना क्षेत्र में पुलिस कर्मियों ने एक व्यापारी को दुकान खोलने के मामले में थाने पर बिठाया था वहीं थाना प्रभारी ने इस पूरे ही मामले में व्यापारी रमेश को पूछताछ कर देर रात छोड़ने का आश्वासन भी दिया था इसी दौरान सब इंस्पेक्टर शैलेश अग्रवाल भी थाने पर आ गया और उसने व्यापारी के साथ जमकर मारपीट की वही छोड़ने के एवज में 25000 की डिमांड भी कर दी लेकिन व्यापारी ने आर्थिक तंगी का हवाला देते हुए राशि में कमी

करने की गुहार सब इंस्पेक्टर शैलेश अग्रवाल से लगाई इसको लेकर शैलेश अग्रवाल ने व्यापारी से ₹10000 देने की बात कही जिस पर शैलेश अग्रवाल ने ₹10000 लेकर मामले को रफा-दफा कर दिया वही मारपीट से घायल हुए व्यापारी ने पूरे मामले की शिकायत आला अधिकारियों को कर दी और अधिकारियों ने पूरे मामले की जांच सीएसपी को सोंपी, सीएसपी ने पूरे मामले की जांच करते हुए आला अधिकारी को जांच रिपोर्ट सौंपी और आला अधिकारियों ने सीएसपी की जांच रिपोर्ट के आधार पर सब इस्पेक्टर शैलेश अग्रवाल को लाइन अटैच कर दिए वहीं अब आने वाले समय में सब इंस्पेक्टर पर निलंबन की कार्रवाई भी की जा रही है वहीं इंदौर डीआईजी ने समस्त पुलिसकर्मियों को यह गाइडलाइंस जारी की है कि समस्त पुलिस कर्मी अनैतिक कार्यो व व्यापारी के साथ ही आम आदमी से अच्छे से व्यवहार करें और यदि कोई भी पुलिसकर्मी ऐसी किसी गतिविधि में संलिप्त मिला तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सबसे पहले समाचार पाने के लिए लाइक करें

फिलहाल इस पूरे मामले में डीआईजी ने जहां सब इस्पेक्टर के निलंबन की कार्रवाई का आश्वासन दिया है वहीं इंदौर में इस तरह की घटनाएं लगातार सामने आ रही है और समय-समय पर डीआईजी पुलिसकर्मियों को इस तरह के आदेश निकालते रहते हैं लेकिन एक-दो दिन उन आदेशों का पालन होता है और फिर पुलिस कर्मी इसी तरह से लेनदेन वह आदमी से दुर्व्यवहार करना शुरू कर देते हैं फिलहाल डीआईजी के इस आदेश का कितने दिनों तक सख्ती से पालन होता है यह देखने लायक रहेगा।


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]