भारत का क्रूड ऑयल इंपोर्ट पांच साल के सबसे निचले स्तर पर – भारत

भारत का क्रूड ऑयल इंपोर्ट पांच साल के सबसे निचले स्तर पर

The Netizen News

भारत के कच्चे तेल का आयात (Crude Oil Import) फरवरी 2015 के बाद जून में अपने अबतक के न्यूनतम स्तर पर आ गया है। जबकि रिफाइंड उत्पादों के निर्यात में भी साल-दर-साल आधार पर गिरावट आई है।

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के पेट्रोलियम प्लानिंग एंड एनालिसिस सेल (PPAC) के आंकड़ों से पता चलता है कि पिछले महीने कच्चे तेल का आयात एक साल पहले से 19 प्रतिशत से घटकर 13.68 मिलियन टन रह गया है।

एक रिपोर्ट के अनुसार यूबीएस के विश्लेषक जियोवानी स्टानोवो ने कहा “यह संभावना है कि भारतीय तेल की मांग फिर से जोरदार रूप से बढ़ सकती है.”

सबसे पहले समाचार पाने के लिए लाइक करें

भारत में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस मामलों के बीच दुनिया के तीसरे सबसे बड़े तेल आयातक और उपभोक्ता भारत में एक साल पहले के मुकाबले ईंधन की मांग जून में 7.8 प्रतिशत गिर गई. OANDA के वरिष्ठ बाजार विश्लेषक एडवर्ड मोया ने का कहना है।

“भारत की ईंधन मांग में गिरावट जारी रहेगी क्योंकि कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.” भारत का तेल उत्पाद का निर्यात लगभग 6 प्रतिशत गिर गया है। डीजल के शिपमेंट ने भी पिछले साल अगस्त से अपना अपनी साल दर साल गिरावट दर्ज की, जो 5.7 प्रतिशत घटकर 2.09 मिलियन टन रही।


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]