खरीददार नहीं मिला तो एयर इंडिया को हमेशा के लिए बंद भी कर सकती है मोदी सरकार – भारत

खरीददार नहीं मिला तो एयर इंडिया को हमेशा के लिए बंद भी कर सकती है मोदी सरकार

The Netizen News

सरकारी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया को अगर कोई ख़रीददार नहीं मिलता है तो केंद्र सरकार इसे हमेशा के लिए बंद भी कर सकती है। केंद्रीय उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने एयर इंडिया के भविष्य को लेकर यह बात कही है। उन्होंने कहा कि यदि संभव होगा तो सरकार इस एयरलाइन को चलाएगी, लेकिन कंपनी पर 60,000 करोड़ रुपये का कर्ज है।

ऐसे में इसका निजीकरण या फिर शट डाउन करना ही विकल्प है। एयरक्राफ्ट संशोधन विधेयक, 2020 को राज्यसभा में पेश करने से पहले हरदीप सिंह पुरी ने मंगलवार को यह बात कही।

उन्होंने कहा कि हमें भरोसा है कि एयर इंडिया को नया मालिक मिलेगा और उसे नई उड़ान मिलेगी। उन्होंने कहा कि 2011-12 से अब तक केंद्र सरकार की ओर से एयर इंडिया में 30,520 करोड़ रुपये की पूंजी का निवेश किया जा चुका है।

हालांकि इस बीच खबर है कि सरकार एयर इंडिया के प्राइवेटाइजेशन की शर्तों को बदलने जा रही है। अब निजीकरण के तहत यह शर्त होगी कि खरीददार को कंपनी पर बकाया कर्ज भी लेना होगा।

इसके अलावा अब बोली कंपनी की एंटीटी वैल्यू पर नहीं होगी बल्कि इंटरप्राइज वैल्यू के आधार पर लगेगी। इस बीच सरकार ने एयर इंडिया के लिए बोली जमा करने की समयसीमा दो महीने बढ़ाकर 30 अक्तूबर तक कर दी है।

सरकारी एयरलाइन में हिस्सेदारी बेचने की प्रक्रिया 27 जनवरी को शुरू हुई थी। यह पांचवां मौका है, जब केंद्र सरकार ने एयर इंडिया के लिए बोली जमा करने की तारीख को बढ़ाया है।

जनवरी में जारी रुचि पत्र के तहत बोली जमा करने की अंतिम तिथि 17 मार्च थी। बाद में इसे बढ़ाकर 30 अप्रैल किया गया। उसके बाद इसे 30 जून और फिर 31 अगस्त तक बढ़ाया गया था।


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Latest Post

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]