सरकार संसाधनों का दुरुपयोग कर रही है विस्टा प्रोजेक्ट के लिए 20,000 और कोरोनावायरस के लिए 15000 करोड़ क्यों ?

सरकार संसाधनों का दुरुपयोग कर रही है विस्टा प्रोजेक्ट के लिए 20,000 और कोरोनावायरस के लिए 15000 करोड़ क्यों ?

Plz share with love

भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिनों तक देश को लॉकडाउन करने का ऐलान किया है। इतना ही नहीं इस महामारी से लड़ने के लिए सरकार ने 15,000 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं।

लेकिन इसे लेकर तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए एक सवाल पूछा है। मोइत्रा ने कहा है कि सरकार संसाधनों का दुरुपयोग कर रही है और उनकी प्राथमिकताएं भी सही नहीं हैं।

टीएमसी सांसद ने ट्वीट कर पीएम से पूछा कि कोरोनावायरस से लड़ने के लिए केवल 15,000 करोड़ और सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के लिए केंद्र ने 20,000 करोड़ मंजूर किए हैं?

यह संसाधनों का खतरनाक दुरुपयोग है और गलत चीजों को प्राथमिकताएं दी जा रही हैं। मंगलवार को देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कोरोना से लड़ने के लिए 15,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त प्रावधान किया है। इस राशि का उपयोग हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए होगा।

लेकिन केंद्र सरकार ने अपने महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के लिए 20,000 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। इस प्रोजेक्ट के तहत राष्ट्रपति भवन से लेकर इंडिया गेट तक चार स्क्वायर किमी. क्षेत्र में स्थित कई ऐतिहासिक इमारतों का पुनर्निर्माण और पुनर्विकास किया जाएगा। इस प्रोजेक्ट के तहत संसद के बगल में नया संसद भवन और प्रधानमंत्री के लिए नया आवास बनाया जाएगा।

vista project

कोरोनावायरस से लड़ने के लिए मजूर की गई रकम विस्टा प्रोजेक्ट से कम है। यह बात टीएमसी सांसद को पसंद नहीं आई और उन्होंने इसे सरकार द्वारा संसाधनों का दुरुपयोग बताया है।

साथ ही उन्होंने सरकार की प्राथमिकताओं पर भी सवाल खड़े किए हैं। बता दें देश में कोरोना वायरस से अबतक 562 लोग संक्रमित हो चुके हैं और इससे 11 लोगों की मौत भी हो चुकी है।


Plz share with love

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]