राजस्थान में कोरोना: गहलोत सरकार ने किट में खामी के चलते प्रदेश में रोका एंटीबॉडी रैपिड टेस्ट

राजस्थान में कोरोना: गहलोत सरकार ने किट में खामी के चलते प्रदेश में रोका एंटीबॉडी रैपिड टेस्ट

Plz share with love

राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार ने रैपिड टेस्ट किट में कमी के चलते राज्य में एंटीबॉडी रैपिड टेस्ट रोक दिया है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि किट के गलत परिणाम सामने आ रहे हैं जिसकी वजह से राज्य में एंटीबॉडी रैपिड टेस्ट रोक दिया गया है। 

स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा कि किट के इस्तेमाल में हमारी तरफ से कोई प्रक्रियागत चूक नहीं हुई है। यह किट इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) द्वारा भेजी गई थी और हमने इसकी सूचना आईसीएमआर को दे दी है।

राजस्थान में रैपिड टेस्ट किट की विश्वसनीयता को लेकर उस समय बड़ा सवाल खड़ा हो गया था जब सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती कोरोना के 100 मरीजों का इस किट के जरिए टेस्ट किया गया। टेस्ट में सिर्फ पांच कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए थे।

रैपिड टेस्ट किट की विफलता पर डॉक्टरों ने कहा था कि किट की दूसरी खेप की भी जांच की जा रही है। यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि कहीं सिर्फ पहली खेप में दिक्कत तो नहीं थी। अगर ऐसा हुआ तो सरकार रैपिड टेस्ट किट को वापस लौटाएगी। बता दें कि इस किट के जरिए कोरोना जांच पर सिर्फ 600 रुपये का खर्च आता है।


Plz share with love

Latest Post

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]