कोरोना का डर : महामारी के कारण दो दिन भटकी प्रसव पीड़िता, डॉक्टरों ने नहीं किया इलाज। – पटना

कोरोना का डर : महामारी के कारण दो दिन भटकी प्रसव पीड़िता, डॉक्टरों ने नहीं किया इलाज।

The Netizen News

कोरोना संक्रमण के कारण अस्पतालों की स्थिति ऐसी है कि प्रसव वेदना से पीड़ित महिला को इलाज के लिए चिकित्सक हाथ तक नहीं लगा रहे। सरकारी अथवा प्राइवेट अस्पतालों की टालमटोल नीति के कारण मरीज की जान पर बन आई है।

डुमरिया के स्वर्गछिड़ा गांव के टीकाराम सोरेन की पत्नी बासंती सोरेन (23) प्रसव के लिए दो दिन तक भटकती रही। बासंती के प्रसव पीड़ा होने पर परिजनाें ने उसे रविवार की सुबह 7.30 बजे डुमरिया सीएचसी में एडमिट करवाया।

चिकित्सक कल्याण महतो की देखरेख में इलाज शुरू किया गया। लेकिन सिजेरियन मामला होने के कारण सोमवार शाम तीन बजे उसे जमशेदपुर सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया।

सबसे पहले समाचार पाने के लिए लाइक करें

तब तक बासंती को प्रसव पीड़ा शुरू हो चुकी थी। सदर अस्पताल में लगभग पांच घंटे रखने के बाद लगभग रात दस बजे बासंती को उसी हाल में एमजीएम रेफर कर दिया गया। लेकिन दुर्भाग्य से एमजीएम में इन्हें भर्ती नहीं लिया गया।

इधर एंबुलेंस चालक भी उन्हें एमजीएम में छोड़कर भाग निकला। साेमवार की रात बड़ी मुश्किल से एक टेंपो के सहारे बासंती को घाटशिला लाया गया। वहां कई नर्सिंग होम ले जाया गया, लेकिन वहां भी उसे भर्ती नहीं लिया गया।

दर्द से कराहती गरीब महिला जिंदगी और मौत से जुझती हुई फिर घर वापस आई। विवश होकर साेमवार की रात को ही एक क्षेत्रीय चिकित्सक को बुलाकर इलाज करवाया गया, लेकिन वह भी असफल रहा।


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]