दिल्‍ली हिंसा: जांच पर 9 रिटायर्ड IPS अफसरों ने उठाए सवाल – नई दिल्ली

दिल्‍ली हिंसा: जांच पर 9 रिटायर्ड IPS अफसरों ने उठाए सवाल

The Netizen News

 दिल्‍ली दंगों में संलिप्‍तता के आरोप में उमर खालिद की गिरफ्तारी का कई बुद्धिजीवियों ने विरोध किया है इनका कहना है कि उस पर लगाए गए अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम को हटाया जाना चाहिए। इसके साथ ही 9 रिटायर्ड आईपीएस अफसरों की ओर से भी दिल्‍ली दंगों की जांच पर सवाल उठाये है।

36 हस्ताक्षरकर्ताओं ने एक बयान पढ़ा, जिसमें सैयदा हमीद, अरुंधति रॉय, रामचंद्र गुहा, टीएम कृष्णा, बृंदा करात, जिग्नेश मेवाणी, पी.साईनाथ, शामिल हैं।

रविवार को सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी जूलियो रिबेरो, जो मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर, डीजीपी गुजरात और पंजाब और रोमानिया में पूर्व भारतीय राजदूत थे, ने दिल्ली के पुलिस आयुक्त एस. एन. श्रीवास्तव को पत्र लिखकर पूर्वोत्तर दिल्ली दंगों के मामलों की जांच पर सवाल उठाया था।

सोमवार को नौ और सेवानिवृत्त अधिकारियों ने श्रीवास्तव को एक खुला पत्र लिखकर सभी दंगों के मामलों की फिर से जांच करने का अनुरोध किया। पत्र के हस्ताक्षरकर्ताओं में पूर्व महानिदेशक राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो शफी आलम और पूर्व विशेष निदेशक सीबीआई के सलीम अली शामिल थे।

उन्होंने कहा, ‘हमें यह जानकर दुख हुआ कि आपके विशेष आयुक्तों ने अपने समुदाय से संबंधित कुछ दंगाइयों की गिरफ्तारी को लेकर हिंदुओं में नाराजगी का दावा करते हुए जांच को प्रभावित करने की कोशिश की थी।

पुलिस नेतृत्व में इस तरह के एक प्रमुख रवैये से हिंसा के पीड़ितों और अल्पसंख्यक समुदायों से संबंधित उनके परिवार के सदस्यों के लिए न्याय का संकट पैदा होता है। इसका आगे यह मतलब होगा कि बहुसंख्यक समुदाय से संबंधित हिंसा के असली दोषियों के मुक्त होने की संभावना है।

यह भी पढ़ा कि नेताओं और कार्यकर्ताओं को, जो सीएए के खिलाफ अपने विचार व्यक्त करते थे, को उकसाते हुए, जो सभी हिंसा को भड़काते हैं और सत्तारूढ़ पार्टी से जुड़े होते हैं, उन्हें हुक से हटा दिया जाता है।


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Latest Post

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]