मुंबई में कोरोना के एक्टिव मामलों में लगातार बढ़ोतरी, प्राइवेट अस्पतालों के 95 % तो सरकारी के 93 % ICU बेड भरे – News

मुंबई में कोरोना के एक्टिव मामलों में लगातार बढ़ोतरी, प्राइवेट अस्पतालों के 95 % तो सरकारी के 93 % ICU बेड भरे

The Netizen News

मुंबई शहर सितम्बर महीने में कोरोना वायरस के लगातार दो हज़ार से ऊपर मामले समाने आ रहे हैं. सिर्फ़ 14 दिनों में ऐक्टिव मामलों में 50% बढ़ोतरी हुई है। वहीं महाराष्ट्र के दूसरे ज़िले से बड़ी संख्या में मरीज़ मुंबई पहुंच रहे हैं, जिसके कारण मुंबई के प्राइवेट अस्पतालों और सरकारी अस्पतालों के आईसीयू (ICU) बेड भर गए हैं।

ऐसे में मुंबई में जुलाई-अगस्त में कोरोना के मामले कम होते-होते सितम्बर में एक बार फिर बढ़ते दिख रहे हैं। तो वहीं मामले दोगुना होने की रेटिंग 93 दिनों से गिरकर 56 दिनों पर आ गई है। रिकवरी रेट भी महज़ चार दिनों में 79% से गिरकर 77% पर आ गया है।

इन बढ़े मामलों के कारण मुंबई में आईसीयू बेड की बड़ी क़िल्लत देखी जा रही है। बीएमसी के इस डैशबोर्ड को देखें तो, प्राइवेट अस्पतालों में 95% तो सरकारी में 93% आईसीयू बेड भरे हैं।

वेंटिलेटर बेड्ज़ की भी क़िल्लत है। सरकारी के क़रीब 94% तो प्राइवेट 95% बेड मरीज़ों से भरे हैं। प्राइवेट अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड भी क़रीब 92% फ़ुल हैं तो सरकारी 57% भरे हैं। प्राइवेट अस्पतालों पर ज़्यादा भार नज़र आ रहा है, क्योंकि यहां के नोर्मल बेड भी 91% फ़ुल हैं। तो वहीं सरकारी के क़रीब 57% फुल है। शहर के बड़े अस्पताल लीलावती के वरिष्ठ डॉक्टर जलील पारकार बताते हैं, राज्य के दूसरे शहरों से मरीज़ काफ़ी बढ़े हैं, और अस्पतालों में लम्बी वेटिंग लिस्ट है।

डॉ जलील पारकर ने बताया, ‘’कल की ही बात है की 18 मरीज़ वेटिंग लिस्ट पर थे, आज भी यही हाल है। दूसरी सिटीज़ जो हैं, वहां से मरीज़ आने लगे हैं, जैसे पुणे, सातारा, सांगली, नाशिक, नागपुर है, उनके पास भी बेड कम पड़ रहे हैं। सहूलियतें कम है। बीएमसी ने 70 से ज़्यादा जो नर्सिंग होम बंद किए तो वहां एक दो जो भी आईसीयू बेड थे जहां मरीज़ भर्ती होते थे, वो अब बंद कर दिए तो मरीज जाएगा किधर? तो मरीज़ बड़े इंस्टिट्यूशंस में आने लगा है”


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]