अमेरिकी सांसदों ने किया दिल्ली हिंसा का विरोध, कहा- चुप नहीं रह सकते, दुनिया देख रही।

अमेरिकी सांसदों ने किया दिल्ली हिंसा का विरोध, कहा- चुप नहीं रह सकते, दुनिया देख रही।

Plz share with love

नागरिकता संसोधन कानून (CAA) को लेकर दिल्ली में हो रही हिंसा पर अमेरिका के कुछ सांसदों ने प्रतिक्रिया दी है।

पीटीआई के मुताबिक, अमेरिकी सांसद प्रमिला जयपाल ने कहा है- ‘भारत में धार्मिक असिष्णुता का खतरनाक रूप से बढ़ना खौफनाक है.’ डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमिला ने कहा- ‘लोकतंत्र को बांटना और भेदभाव करना बर्दाश्त नहीं करना चाहिए और न ही धार्मिक स्वतंत्रता को कम करने वाले कानून को बढ़ावा देना चाहिए.’

दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर प्रमिला ने एक ट्वीट में लिखा- ‘दुनिया देख रही है.’ पिछले साल प्रमिला ने एक संसदीय रिज्योलूशन भी पेश किया था जिसमें जम्मू-कश्मीर में कम्यूनिकेशन पर रोक खत्म करने की मांग की गई थी।

वहीं, अमेरिकी सांसद एलन लॉवेंथल ने भी हिंसा पर कहा- ‘नैतिक नेतृत्व की दुखद असफलता.’ उन्होंने कहा कि भारत में मानवाधिकार के खतरे के खिलाफ हमें जरूर बोलना चाहिए।

डेमोक्रेटिक प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट और सीनेटर एलिजाबेथ वॉरेन ने कहा- ‘भारत जैसे लोकतांत्रिक पार्टनर्स के साथ रिश्ता मजबूत करना जरूरी है। लेकिन हमें अपने मूल्यों, धार्मिक आजादी और अभिव्यक्ति की आजादी को लेकर सच भी बोलना चाहिए। शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हिंसा कभी भी स्वीकार्य नहीं है।”

अमेरिकी सांसद रशिता तालिब ने कहा- ‘इस हफ्ते ट्रंप ने भारत का दौरा किया, लेकिन असल कहानी ये है कि दिल्ली में इस वक्त मुस्लिमों के खिलाफ सांप्रदायिक हिंसा हो रही है. हम चुप नहीं रह सकते क्योंकि देश भर में (भारत) हिंसा हो रही है.’


Plz share with love

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]