रशियन से लेकर कॉलेज गर्ल तक सप्लायर निकला भीमा उर्फ़ सुरेंद्र सिंह

रशियन से लेकर कॉलेज गर्ल तक सप्लायर निकला भीमा उर्फ़ सुरेंद्र सिंह

Plz share with love

पुलिस की मानें तो ताजनगरी में वह सबसे बड़ा युवतियों का सप्लायर है। ऑन डिमांड वह युवतियां सप्लाई किया करता था। घरेलू महिला, रशियन से लेकर उसके संपर्क में कॉलेज गर्ल्स भी थीं। वे उन्हें भी डिमांड पर ग्राहकों के पास भेजता था।

इंस्पेक्टर ताजगंज अनुज कुमार ने बताया कि कुछ साल पहले भीमा एक सितारा होटल में बार टेंडर था। उसने देखा कि होटल में आने वाले ग्राहक युवतियां भी मांगते हैं। होटल के कुछ कर्मचारी उनके लिए युवतियां उपलब्ध कराते हैं।

इसलिए उसने भी अपने संपर्क बनाना शुरू किया। सबसे पहले वह आगरा की एक चर्चित महिला के संपर्क में आया। वह कई सालों से इस धंधे में लिप्त है। एक बार उस पर शिकंजा कसा गया था। पुलिस में खलबली मच गई थी। कई लोग फंस गए थे।

सबसे पहले समाचार पाने के लिए लाइक करें

भीमा ने अपने अवैध धंधे की शुरूआत उसी महिला के साथ की। धीरे-धीरे वह दिल्ली के एजेंट के संपर्क में आ गया। एस्कॉट सर्विस के लिए अपना नंबर इंटरनेट पर अपलोड करा दिया। उसके पास फोन आने लगे। वह युवतियां सप्लाई करने लगा। धीरे-धीरे दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, हैदराबाद, बेंग्लूरू के एजेंट भी उसके संपर्क में आ गए।

पुलिस की मानें तो भीमा ऑन इंडिया स्तर का सप्लायर है। उसके मोबाइल में 1000 से अधिक युवतियों के अश्लील फोटो मिले हैं। 500 से अधिक फोटोग्राफ विदेशी युवतियों के हैं।

आगरा में वह कई रसूखदार लोगों के संपर्क में था। पुलिस ने भीमा से यह जानने का प्रयास किया कि उसने इस अवैध धंधे से कितने रुपये कमाए हैं। आखिर तक उसने जुबान नहीं खोली। भीमा ने पुलिस को बताया कि आगरा में ऐसा कोई सितारा होटल नहीं है जहां युवतियां नहीं जाती।

होटलों में ग्राहकों को हर तरह की सुविधाएं मुहैया कराई जाती हैं। बड़े-बड़े आयोजन के समय उसके पास पचास से सौ युवतियों तक की डिमांड आती है। इन युवतियों को वह होटलों में भेजता है। न्यू ईयर ईव पर ही उसने 100 से अधिक युवतियों को होटलों में सप्लाई किया था।

युवतियों के नाम से रहती है बुकिंग

भीमा ने पुलिस को बताया कि दिल्ली से हाईप्रोफाइल युवतियां भी ऑन डिमांड आती हैं। इन युवतियों के लिए सितारा होटलों में कमरे बुक कराए जाते हैं। बुकिंग इनके नाम से ही होती है। ग्राहकों की बुकिंग भी उनके नाम से उसी होटल में होती है।

रात को युवतियां ग्राहकों के कमरे में पहुंच जाती हैं। पुलिस चाहकर भी यह साबित नहीं कर सकती है कि युवतियां देह व्यापार में लिप्त हैं। युवतियां अपने कमरे में अकेले ही रुकती हैं। ग्राहकों के कमरे में रात को उस समय जाती हैं जब होटल में चहल-पहल कम हो जाती है। सुबह होने से पहले अपने कमरे में लौट आती हैं।


Plz share with love

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter