बेतिया: कोरोना से बचने के लिए बिहार के इस गांव में शुरू हुआ महायज्ञ

बेतिया: कोरोना से बचने के लिए बिहार के इस गांव में शुरू हुआ महायज्ञ

Plz share with love

बेतिया : कोरोना वायरस भारत समेत 100 से ज्‍यादा देशों में अपना कहर बरपा रहा है। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने इसे वैश्विक महामारी घोषित कर दिया है। भारत में भी कोरोना के दस्तक से देशवासियों में डर और दहशत का माहौल है।

देश और प्रदेश की सरकार जहां इस वायरस से बचाव में लगी हुई है, वहीं अब आमलोग इस जानलेवा वायरस से बचने के लिए भगवान की शरण में जा पहुंचे हैं। बिहार के बेतिया में कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला जहां कोरोना से बचने के लिए लोगों ने दो दिवसीय अष्टयाम का आयोजन किया है। ग्रामीण भगवान से कोरोना से मुक्ति की गुहार लगा रहे हैं।

बेतिया के चनपटिया प्रखंड क्षेत्र स्थित नगदहिया गांव के धर्मेन्द्र यादव ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए दो दिवसीय अष्टयाम का आयोजन किया है। इसमें हजारों लोग शामिल हुए और गांव की कुंआरी कन्याओं ने कलश यात्रा भी निकाली।

नगदहिया गांव से कलश लेकर लड़कियां बेतिया शहर में स्थित कालीधाम मंदिर पहुंचीं, जंहा से जलभर कर अष्टयाम स्थल तक पहुंचीं।

अष्टयाम को वैदिक रीति-रिवाज से सम्पन्न कराने वाले पुजारी पप्पू पंडित ने बताया कि जब धरती के भगवान (डॉक्‍टर) किसी बीमारी की रोकथाम नहीं कर पाते हैं, ईश्‍वर ही इसको रोक सकते हैं।

इसलिए गांव में कोरोना वायरस से बचने के लिए ग्रामीणों ने आपसी सहयोग से दो दिवसीय अष्टयाम का आयोजन किया है, ताकि न सिर्फ इस गांव को बल्कि पूरे देश और विश्व को इस जानलेवा बीमारी से बचाया जा सके।


Plz share with love

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]