बाँदा : ईद में मस्जिदें, ईद, गाहें रहेंगी बंद घरों में पढ़ें नमाज ।

बाँदा : ईद में मस्जिदें, ईद, गाहें रहेंगी बंद घरों में पढ़ें नमाज ।

Plz share with love

शहर काजी ने कि लोगों से घरों में नमाज़ पढ़ने की अपील ।

कोरोना महामारी के चलते बाँदा वासियों का एलान ।

ईद में होने वाले खर्च से गरीबों की करेंगे मदद ।

इस बार ईद में नहीं खरीदेंगे नए कपड़े ।

कोरोना महामारी के चलते इस बार ईद में घरों में ही नमाज़ अदा करें मस्जिदें ईदगाहें बंद रहेंगी ।
शहर काजी सैय्यद मेराज मसूदी उर्फ अकील मियाँ ने लोगों से अपील की है कि इस बार ईद सादगी से मनाएं देश के हालत देखते हुए परेशान हाल लोगों की मदद करें भीड़ का हिस्सा बिल्कुल न बने ।

उधर शहर के बाशिंदों ने भी बताया कि कोरोना महामारी की वजह से मुल्क के गरीब तबके के लोग बहुत परेशान हैं लोगों के पास खाने को खाना नहीं है ऐसे में हमारा ईद की खुशियां मनाना गलत होगा इस लिए हम लोग ईद में होने वाले सारे खर्च रोक कर गरीबों की मदद करेंगे ताकि उनके घरों के चूल्हे जल सकें ।

हसनुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि वो लगातार लॉक डाउन की शुरुआत से ही लोगों की मदद करते चले आ रहे हैं और आगे भी करेंगे इस बार ईद में वो कोई फुजू खर्ची नहीं करेंगे ।
शहर वासियों की इस पहल से बाज़ारों में सन्नाटा पसरा है दो दिन ईद को बाकी हैं फिर भी बाज़ार खाली पड़े हैं दुकानदारों ने भी इस बार नया स्टॉक नहीं मंगाया उनका भी यही कहना है कि इस बार जो देश के हालात है ऐसे में ईद मनाना मुनासिब नहीं है ।

यकीनन बांदा वासियों की ये सोंच शहर ही नहीं बल्कि पूरे देश के लिए फख्र की बात है ऐसे हालातों में देश के हर मुसलमान को अपने स्तर से जितना हो सके गरीबों की मदद करनी चाहिए ।


Plz share with love

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]