बदायूं: स्वास्थ्य विभाग की तानाशाही में चली गई महिला की जान! – लखनऊ

बदायूं: स्वास्थ्य विभाग की तानाशाही में चली गई महिला की जान!

The Netizen News

बदायूं: गर्व होना चाहिए ऐसे पुलिस अधिकारी पर जिसने घायल एक महिला की जान बचाने के लिये जी जान लगा दी। मगर अफसोस बिल्सी सीएचसी के कर्मचारियों की लापरवाही से महिला की मौत हो गयी।

बताया जाता है कि उघैती बिल्सी हाईवे पर नरैनी चौराहे के नजदीक एक कैंटर ने बाइक सवार माँ बेटा को टक्कर मार दी। सूचना मिलते ही तुरन्त थाना उघैती से एसआई सुशील पवांर उधर से अपने हम राह के साथ मौके पर पहुँच गए तब महिला जिंदा थी।

आनन-फानन में वह महिला व पुत्र को लेकर सीएचसी बिल्सी अस्पताल लेकर पहुँचे, पर एसआई सुशील पवार ३० मिनट तक स्टाफ से महिला को देखने का अनुरोध करते रहे मगर कोई नही आया, तो स्वयं एसआई ने महिला सिपाहियों की मदद से स्वयं स्टेचर लाकर घायल महिला को अदंर ले गये।

जब पुलिस ने डॉक्टर से तुरन्त उपचार की गुहार लगाई तो स्टाफ देखने की बजाय एसआई से एक डॉक्टर रौब दिखाते हुए नोंक-झोंक करने में लग गया और तब तक महिला ने दम तोड दिया।


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]