क्या हर काम के लिए लेना होगा यूपी पुलिस से परमिशन, 10 नागरिक सत्याग्रहियों ने गाजीपुर जेल के अंदर ही भूख हड़ताल पर बैठ

क्या हर काम के लिए लेना होगा यूपी पुलिस से परमिशन, 10 नागरिक सत्याग्रहियों ने गाजीपुर जेल के अंदर ही भूख हड़ताल पर बैठ

Plz share with love

देश में फैली अशांति को रोकने और गांधी के विचारों को जन-जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से चौरीचौरा से शुरू हुई सत्याग्रहियों की पदयात्रा बीते मंगलवार को जिले में रोक दी गई।

नागरिक सत्याग्रह टीम से जुड़े बीएचयू स्टूडेंट विकास सिंह ने दिप्रिंट को बताया कि 11 फरवरी को उनके साथियों की जब गिरफ्तारी हुई तब तक वे 250 किलोमीटर की पदयात्रा पूरी कर चुके थे।

विकास के मुताबिक, इन 10 लोगों में एक महिला पत्रकार, छात्र और एक सामाजिक कार्यकर्ता शामिल हैं। हिंदू-मुस्लिम एकता बनाए रखने और गांधी के विचारों को फैलाने की बात कर रहे थे।

सबसे पहले समाचार पाने के लिए लाइक करें

जबकि गाजीपुर पुलिस की ओर से कहा गया कि इस यात्रा की परमिशन नहीं ली गई थी और जिले में धारा 144 लागू है। एफआईआर में उन्होंने कहा कि हमारी यात्रा सीएए और एनआरसी के खिलाफ है।

जिला पुलिस द्वारा पदयात्रा में शामिल नौ सत्याग्रहियों को गिरफ्तार कर चालान कर दिया गया। सभी सत्याग्रही जिला जेल में गुरुवार की शाम भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं। इसे लेकर जेल प्रशासन परेशान है।

चौरीचौरा से निकली यह पदयात्रा दिल्ली के राजघाट में समाप्त होनी थी, लेकिन जनपद पुलिस ने ऐसा नहीं होने दिया। ये सत्याग्रही 225 किलोमीटर की यात्रा तय कर चुके थे।

उनके यात्रा का मकसद गांधी के विचारों को जन-जन तक पहुंचाना और सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखना था। अब गिरफ्तारी के बाद जेल में सभी ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है।

ये भूख हड़ताल गुरुवार को शाम पांच बजे से शुरू हुई है। भूख हड़ताल करने वालों में जेल में निरुद्ध पत्रकार प्रदीपिका सारस्वत, यात्रा के संयोजक मनीष शर्मा, शेष नारायण ओझा, अतुल यादव, प्रवेश कुमार पांडे, नीरज राय राज, अभिषेक रविंद्र कुमार, रवि मुरारी कुमार, अनंत शुक्ला शामिल हैं। सभी ने भूख हड़ताल करने की सर्वसम्मति से निर्णय लिया है।


Plz share with love

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter