कोरोनावायरस के बाद चीन में अब 'हंता वायरस' से व्‍यक्ति की मौत के बाद मचा हड़कंप

कोरोनावायरस के बाद चीन में अब ‘हंता वायरस’ से व्‍यक्ति की मौत के बाद मचा हड़कंप

Plz share with love

कोरोना वायरस की मार से जूझ रहे चीन के युन्नान प्रांत में एक व्‍यक्ति की सोमवार को हंता वायरस से मौत हो गई। पीड़‍ित व्‍यक्ति काम करने के लिए बस से शाडोंग प्रांत लौट रहा था।

उसे हंता वायरस से पॉजिटिव पाया गया था। बस में सवार 32 अन्‍य लोगों की भी जांच की गई है। चीन के सरकारी समाचार पत्र ग्‍लोबल टाइम्‍स के इस घटना की जानकारी देने के बाद सोशल मीडिया पर बवाल मच गया है।

बड़ी संख्‍या में लोग ट्वीट करके यह डर जता रहे हैं कि यह कहीं कोरोना वायरस की तरह से ही महामारी न बन जाए। लोग कह रहे हैं कि अगर चीन के लोग जानवरों को जिंदा खाना बंद नहीं करेंगे तो यह होता रहेगा।

क्या है हंता वायरस :

विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस की तरह से हंता वायरस घातक नहीं है। यह चूहे या गिलहरी के संपर्क में इंसान के आने से फैलता है।

सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, ‘चूहों के घर के अंदर और बाहर करने से हंता वायरस के संक्रमण का खतरा रहता है।

यहां तक कि अगर कोई स्‍वस्‍थ व्‍यक्ति भी है और वह हंता वायरस के संपर्क में आता है तो उसके संक्रमित होने का खतरा रहता है।’

हालांकि हंता वायरस एक व्‍यक्ति से दूसरे व्‍यक्ति में नहीं जाता है लेकिन यदि कोई व्‍यक्ति चूहों के मल, पेशाब आदि को छूने के बाद अपनी आंख, नाक और मुंह को छूता है तो उसके हंता वायरस से संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है।

इस वायरस से संक्रमित होने पर इंसान को बुखार, सिर दर्द, शरीर में दर्द, पेट में दर्द, उल्‍टी, डायरिया आदि हो जाता है। अगर इलाज में देरी होती है तो संक्रमित इंसान के फेफड़े में पानी भी भर जाता है, उसे सांस लेने में परेशानी होती है।

hantavirus pulmonary syndrome (HPS) को रोका जा सकता है?

हैनटवायरस के लिए कोई टीका नहीं है एचपीएस के जोखिम को कम करने के लिए आप जो कदम उठा सकते है उनमे ये है –

  • उन जगहों से दूर रहें जहां कृन्तकों ( Rodents ) को छोड़ने की जगह है
  • रबर के दस्ताने और एक मास्क पहनें जो चूहों के सम्पर्क में आने से बचे
  • वह क्षेत्र जहां चूहे रहते है और टॉयलेट लैटरिंग किया है उसे साफ करना कोशिस यह भी रहे यह संक्रमित हवा या पानी में न फैले।
  • अपने घर के भीतर और आस-पास सभी जगह बंद कर दे जिससे कृन्तकों में प्रवेश न हो सके
  • आबादी को कम करने के लिए अपने घर में और उसके आसपास ट्रैप कृन्तकों (चूहेदानी) को रखें


Plz share with love

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]