पंजाब में जहरीली शराब पीने के कारण चार दिनों में 80 लोगों की मौत , मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश – भारत

पंजाब में जहरीली शराब पीने के कारण चार दिनों में 80 लोगों की मौत , मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश

The Netizen News


The Netizen News
The Netizen News

पंजाब में जहरीली शराब से मरने वालो की सांख्य लगातार बढ़ती जा रही है। पंजाब के तीन जिलों में बीते चार दिनों में कथित तौर पर जहरीली शराब पीने के कारण 80 लोगों की जान जा चुकी है।

बीते बुधवार से तरनतारन, बटाला और अमृतसर में नकली शराब पीने के कारण 80 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सबसे अधिक जान तरन तारन में गई है, जहां 64 लोगों की जान जा चुकी है, जबकि अमृतसर ग्रामीण में 12 और बटाला के गुरूदासपुर में 11 लोगों की जान जा चुकी है।

सबसे पहले समाचार पाने के लिए लाइक करें

न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने इस मामले में अभी तक 25 लोगों को गिरफ्तार किया है. पंजाब पुलिस ने शानिवार को कुल 100 जगह रेड मारी जिसमें उन्होंने 17 और लोगों को गिरफ्तार किया है।

डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा,”एक माफिया मास्टरमाइंड, एक महिला किंगपिन, एक परिवहन मालिक, एक वांछित अपराधी और विभिन्न ढाबों के मालिक और प्रबंधक हैं जहां से अवैध शराब की आपूर्ति की जा रही थी.” पुलिस ने छापेमारी के दौराम भारी मात्रा में नकली शराब बनाने का सामान बरामद किया गया।

इससे पहले शुक्रवार को सीएम अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर लिखा,”मैंने अमृतसर, गुरदासपुर और तरनतारन में जहरीली शराब की मौतों की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं।

कमिश्नर, जालंधर डिवीजन जांच करेंगे और संबंधित एसएसपी और अन्य अधिकारियों के साथ समन्वय करेंगे. जो भी दोषी पाया जाएगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।

बता दें, इस मामले के सामने आने के बाद इस घटना की जांच के लिए जालंधर के संभागीय आयुक्त द्वारा मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए थे और मामले में एक एसआईटी का गठन किया गया था।

आधिकारिक बयान में कहा गया था,”जांच में गौर किया जाएगा कि किस परिस्थिति में और किन वजहों से ये मौतें हुई. संभागीय आयुक्त जालंधर के साथ ही पंजाब के संयुक्त आबकारी और कर आयुक्त तथा संबंधित जिलों के एसपी द्वारा जांच की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने संभागीय आयुक्त को त्वरित जांच के लिए प्रशासन या पुलिस के किसी भी अधिकारी या अन्य विशेषज्ञ का भी सहयोग लेने की छूट दी है।

इससे पहले पंजाब के पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने कहा था कि जहरीली शराब पीने के कारण पहली पांच मौतें 29 जून की रात को अमृतसर ग्रामीण के थाना तरसिक्क में मुच्छल और तंग्रा से हुई थीं।

इसके बाद 30 जुलाई की शाम को मुच्छल में संदिग्ध परिस्थितियों में दो और लोगों की मौत हो गई थी, जबकि एक व्यक्ति को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था।


The Netizen News

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]