4 साल इंतजार, 17 साल काम, 516 करोड़ खर्च और प्रवासी मजदूरों की मेहनत से तैयार हुआ कोसी रेल महासेतु। – पटना

4 साल इंतजार, 17 साल काम, 516 करोड़ खर्च और प्रवासी मजदूरों की मेहनत से तैयार हुआ कोसी रेल महासेतु।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोसी रेल महासेतु के साथ यात्री सुविधाओं से संबंधित रेल की 12 परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे. इस तरह करीब 84 साल के बाद कोसी और मिथिला के लोगों का सपना साकार होने जा रहा है।

कोसी नदी पर बने रेल महासेतु पर ट्रेन का ट्रायल सफल होने के बाद अब जल्द ही ट्रेन दौड़नी शुरू हो जाएगी। कोसी महासेतु को तैयार करने में करीब 516 करोड़ रूपए खर्च किए गए।

वहीं इसे तैयार करने में प्रवासी मजदूरों की भी बड़ी भूमिका रही. जिनके मेहनत से यह सेतु तैयार किया गया. पीएम मोदी कोसी महासेतु के साथ ही सरायगढ़ से आसनपुर कुपहा रेलखंड का उद्घाटन 18 सितंबर को करने जा रहे हैं।

कई इलाकों के लोगों को मिलेगा लाभ

कोसी नदी के रेल पुल पर परिचालन शुरू होने से कई इलाकों के लोगों को लाभ मिलेगा। इसका उद्घाटन बिहार के इतिहास में एक ऐतिहासिक क्षण होगा। यह इस क्षेत्र को पूर्वोत्तर भारत के राज्यों से जोड़ेग।

साल 2021 की शुरूआत तक फारबिसगंज तक ट्रेन चलने की उम्मीद है। यहां तक ट्रेन चलने पर जोगबनी, कटिहार, गुवाहाटी से भी कोसी और मिथिला का सीधा संपर्क हो सकेगा।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]