जन्म प्रमाण पत्र जारी करता अधिकारी को रिश्वत ना मिलने पर 4 साल बच्चे की उम्र लिखी 104 साल

जन्म प्रमाण पत्र जारी करता अधिकारी को रिश्वत ना मिलने पर 4 साल बच्चे की उम्र लिखी 104 साल

Plz share with love

बरेली की एक अदालत ने कथित रूप से रिश्वत नहीं देने पर चार साल के बच्चे और उसके छोटे भाई के जन्म प्रमाणपत्रों में उनकी उम्र 100 साल बढ़ाकर लिखने के आरोपी ग्राम विकास अधिकारी और ग्राम प्रधान के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिये हैं।

मामला बरेली का है ग्राम विकास अधिकारी सुनील चंद्र अग्निहोत्री और ग्राम प्रधान प्रवीण मिश्रा ने आवेदक पवन कुमार से जन्म प्रमाण पत्र बनाने के लिए ₹500 प्रति प्रमाण पत्र रिश्वत मांगी आवेदक पवन कुमार ने जब रिश्वत देने से इंकार कर दिया।

दोनों बच्चों का जन्म प्रमाण पत्र बना लेकिन तिथि में फेरबदल कर दिया गया जन्म तिथि 13 जून 2016 के स्थान पर 13 जून 1916 लिख दी गई वहीं दूसरी तिथि में 6 जनवरी 2018 की जगह 6 जनवरी 1918 दर्ज कर प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया

सबसे पहले समाचार पाने के लिए लाइक करें

जिला प्रशासन से कोई सुनवाई न होने पर पीड़ित परिवार ने उनके माध्यम से बरेली की विशेष अदालत में अर्जी दी थी। विशेष न्यायाधीश (भ्रष्टाचार निवारण)—द्वितीय मुहम्मद अहमद खां ने मामले की सुनवाई के बाद गत 17 जनवरी को शाहजहांपुर के खुटार थाना पुलिस को आरोपित वीडीओ और ग्राम प्रधान पर मुकदमा दर्ज करके मामले की तफ्तीश किए जाने के आदेश दिये।

खुटार थाना प्रभारी तेजपाल सिंह ने बताया कि मुकदमा दर्ज करने के आदेश की प्रति उन्हें मंगलवार को प्राप्त हो गयी है और इसका अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा।


Plz share with love

अपने क्षेत्रीय और जनपदीय स्तर की सभी घटनाओ से जुड़े अपडेट पाने के लिए - सोशल मीडिया पर हमे लाइक, सब्सक्राइब और फॉलो करें -

फेसबुक के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए

Subscribe To Our Newsletter