बिहार : 25,000 शिक्षकों का एक साथ निलंबन, शिक्षक बोले सरकार हो गई 'तानाशाह'

बिहार : 25,000 शिक्षकों का एक साथ निलंबन, शिक्षक बोले सरकार हो गई ‘तानाशाह’

Plz share with love

बिहार में 25,000 से अधिक हाई स्कूल शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। इनपर आरोप है कि बिहार कक्षा X बोर्ड परीक्षा के प्रश्नपत्रों के मूल्यांकन में ये भाग नहीं लिया ले रहे थे। लगभग 5 लाख शिक्षक 7 वे वेतन प्रणली की मांग वाले प्रदर्शन में शामिल है।

जानकारी के मुताबिक बिहार में 17 फरवरी से 4.5 लाख प्राथमिक और मध्य विद्यालय के शिक्षक हड़ताल पर है जबकि 25 फरवरी से 50,000 से अधिक हाई स्कूल शिक्षक भी उन्हें समर्थन दिया था।

पिछले 10 दिनों से कोरोनोवायरस के प्रकोप के मद्देनजर सभी स्कूल बंद हैं, जिसके चलते फरवरी के बाद से 75,000 से अधिक सरकारी स्कूलों में छात्रों की संख्या घट गई है। लिहाजा सरकार ने स्कूलों में मिड-डे-मील की सुविधा बंद करा दिया है।

बिहार माध्यमिक विद्यालय शिक्षक संघ के महासचिव शत्रुघ्न प्रसाद सिंह ने कहा कि जब तक सरकार अपनी लंबे समय से लंबित मांगों पर विचार नहीं करती है तब तक हड़ताल बंद होने का सवाल ही नहीं । “सरकार यह कहकर लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है कि सातवें वेतन आयोग को लागू किया गया है। लेकिन इसे लागू नहीं किया गया है ”

माध्यमिक विद्यालय के शिक्षकों को एफआईआर और निलंबन का सामना करना पड़ा क्योंकि उन्होंने मूल्यांकन में भाग लेने के सरकारी आदेश का पालन नहीं किया। ये शिक्षक पहले दसवीं कक्षा बोर्ड परीक्षा ड्यूटी से दूर रहे थे।


Plz share with love

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="319"]